एडवांस्ड सर्च

Advertisement

भारत बंद में साथ, अब कांग्रेस ने तेल कीमतों पर केजरीवाल को घेरा

बीते 10 सितंबर को कांग्रेस पार्टी ने तेल कीमतों में हो रहे इजाफे के खिलाफ भारत बंद बुलाया था. इस बंद को 21 दलों ने समर्थन दिया था. आम आदमी पार्टी भी इस बंद में शामिल हुई थी. जबकि अब दिल्ली कांग्रेस ने तेल कीमतों में बढ़ोतरी के लिए केजरीवाल सरकार को भी जिम्मेदार बताया  है.
भारत बंद में साथ, अब कांग्रेस ने तेल कीमतों पर केजरीवाल को घेरा दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन
अंकित यादव [Edited By: जावेद अख़्तर]नई दिल्ली, 12 September 2018

तेल कीमतों में हो रही हर दिन बढ़ोतरी के खिलाफ कांग्रेस फ्रंट फुट पर खेल रही है. देशव्यापी बंद बुलाने के बाद भी पार्टी तेल के मोर्चे पर भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार को घेर रही है. वहीं, अब पार्टी ने राजधानी दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी को भी रेट में वृद्धि के लिए जिम्मेदार ठहराया है. ऐसा तब है जबकि कांग्रेस के भारत बंद को आम आदमी पार्टी ने समर्थन दिया था.

दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि राजधानी में तेल की बढ़ी कीमतों के लिए केवल नरेंद्र मोदी या केंद्र सरकार जिम्मेदार नहीं है बल्कि दिल्ली सरकार भी उतनी ही उत्तरदायी है.

उन्होंने कहा, 'दिल्ली सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले वैट की दरों को बेतहाशा रूप से बढ़ाया है. अब दिल्ली में पेट्रोल और डीज़ल पर लगने वाला वैट पहले के मुक़ाबले दोगुने से भी ज़्यादा है.

अजय माकन ने कहा कि दिल्ली में कांग्रेस की सरकार के वक्त डीजल पर वैट की दर 12.5 फीसदी थी, जिसे केजरीवाल सरकार ने बढ़ाकर 17 फीसदी कर दिया. इसी प्रकार कांग्रेस सरकार के वक्त पेट्रोल पर वैट की दर दिल्ली में 20 प्रतिशत थी और अब केजरीवाल सरकार ने उसे 27 प्रतिशत कर दिया है.

माकन यही नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि केंद्र में UPA सरकार के वक़्त पेट्रोल पर मई 2014 में एक्साइज़ ड्यूटी 9 रुपये प्रति लीटर थी जबकि आज मोदी सरकार ने इसे बढ़ाकर तक़रीबन 20 रुपये प्रति लीटर कर दिया यानी पेट्रोल पर एक्साइज़ की 200% से ज़्यादा की वृद्धि की गई है.

वहीं, उन्होंने ये भी बताया कि कांग्रेस सरकार के वक़्त डीज़ल की एक्साइज़ ड्यूटी महज़ तीन रुपये थी जिसे अब मोदी सरकार ने बढ़ाकर 15 रुपये प्रति लीटर से भी ज़्यादा कर दिया है.

तेल की बढ़ती कीमत फिलहाल बड़ा मुद्दा बनता दिखाई दे रहा है. कांग्रेस भी इसे छोड़ने के मूड में नहीं है. अजय माकन ने स्पष्ट कहा है कि जब मोदी सरकार और केजरीवाल सरकार दिल्लीवासियों को तेल कीमतों में राहत नहीं देती है तब उनका विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा. लेकिन मोदी सरकार के खिलाफ सजे राहुल गांधी के नेतृत्व वाले मंच पर विराजमान होने वाली आम आदमी पार्टी को ही अब दिल्ली कांग्रेस तेल की मार का हिस्सेदार बता रही है.

पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay