एडवांस्ड सर्च

दिल्ली अग्निकांड पर मुआवजे का ऐलान, PM दो तो केजरीवाल देंगे 10 लाख

दिल्ली के रानी झांसी रोड में रविवार सुबह भीषण आग लग गई. जिसमें अब तक 43 लोगों की मौत हुई है. इस घटना के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुआवजे का ऐलान कर दिया है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 08 December 2019
दिल्ली अग्निकांड पर मुआवजे का ऐलान, PM दो तो केजरीवाल देंगे 10 लाख सीएम अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

  • सीएम अरविंद केजरीवाल पीड़ित परिवारों को देंगे 10-10 लाख रुपये का मुआवजा
  • बीजेपी ने पीड़ित परिवारों को 5-5 लाख रुपये का मुआवजा देने का किया ऐलान

दिल्ली के रानी झांसी रोड में रविवार सुबह भीषण आग लग गई. जिसमें अब तक 43 लोगों की मौत हुई है. पुलिस प्रशासन और दमकल विभाग का रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है और 56 से ज्यादा लोगों को बाहर निकाला गया है. वहीं इस घटना के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुआवजे का ऐलान कर दिया है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल घटनास्थल पर पहुंचे और इसके बाद घायलों को देखने अस्पताल भी गए. घटना के बाद मुख्यमंत्री केजरीवाल ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया. इसके अलावा घायलों को एक-एक लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है. वहीं अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि घायलों का मुफ्त इलाज होगा.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अग्निकांड में मारे गए लोगों के परिवारों के लिए 2-2 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है. इसके अलावा आग में गंभीर रूप से घायल लोगों के लिए 50 हजार रुपये को भी मंजूरी दी गई है. वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी 2 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया है. इसके तहत दिल्ली के इस अग्निकांड में अपनी जान गंवाने वाले बिहार से ताल्लुक रखने वाले पीड़ितों के परिवारों को ये मुआवजा दिया जाएगा.

इसके अलावा दिल्ली प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी भी मौके पर पहुंचे. बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने घटना पर दुख जताया और मृतकों के परिवार को 5 लाख रुपये देने का ऐलान किया. इसके अलावा उन्होंने घायलों को 25 हजार रुपये दिए जाने की बात भी कही.

क्या है मामला?

बता दें कि दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में रविवार सुबह भीषण आग लगी. वहां की गलियां काफी संकरी हैं. जिस फैक्ट्री में आग लगी है वह रिहायशी इलाके में अवैध तरीके से चल रही थी. बताया जा रहा है कि पूरा इलाका अवैध और छोटी फैक्ट्रियों से भरा हुआ है. जिसे न तो एनओसी मिली थी और न ही आग बुझाने के इंतजाम किए गए थे.

इस संकरे इलाके में चारों ओर बिजली के तार हैं. मौके पर पहुंचे चीफ फायर ऑफिसर ने बताया कि जब उन्हें आग लगने की सूचना दी गई तो सिर्फ यह बताया गया था कि एक बिल्डिंग में आग लगी है. घटना के बाद अब तक 50 से अधिक लोगों को वहां से निकाला जा चुका है और उन्हें चार अलग -अलग अस्पताल में भर्ती कराया गया.

फायर सेफ्टी विभाग ने बताया कि बाजार में यह आग सुबह करीब 5 बजे लगी. जिसकी सूचना मिलते ही दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं. आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay