एडवांस्ड सर्च

दिल्ली बॉर्डर सील करने के फैसले पर सियासी जंग, बीजेपी-कांग्रेस नेता केजरीवाल पर बरसे

कोरोना संकट के बीच दिल्ली सरकार ने बॉर्डर सील करने का फैसला लिया है, जिसके कारण काफी लोगों को परेशानी हो रही है. ऐसे में इस मसले पर अब राजनीतिक बयानबाजी भी तेज़ हो गई है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 02 June 2020
दिल्ली बॉर्डर सील करने के फैसले पर सियासी जंग, बीजेपी-कांग्रेस नेता केजरीवाल पर बरसे दिल्ली सरकार के फैसले पर सवाल (फोटो: अरविंद केजरीवाल, PTI)

  • दिल्ली के बॉर्डर अगले एक हफ्ते के लिए सील
  • सीएम केजरीवाल पर बरसे बीजेपी-कांग्रेस नेता

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का राजधानी के बॉर्डर सील करने का ऐलान एक सियासी तूफान लेकर आया है. कोरोना वायरस संकट के बीच अरविंद केजरीवाल ने राजधानी के बॉर्डर एक हफ्ते के लिए सील कर दिये हैं. अब भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस की ओर से केजरीवाल पर निशाना साधा जा रहा है और इस फैसले को गलत करार दिया जा रहा है.

कांग्रेस की ओर से अरविंद केजरीवाल पर तीखा हमला किया गया. दिल्ली कांग्रेस ने अपने ट्विटर पर लिखा, ‘जब दिल्ली में सब कुछ खोल दिया गया है, फिर दिल्ली के बॉर्डर सील करने की क्या जरूरत थी, जबकि लोगों को बॉर्डर के इधर-उधर काम धंधे पर जाने के लिए रोक लगाने से बॉर्डर पर सिर्फ अराजकता ही पैदा होगी’.

इसके अलावा कांग्रेस की ओर से लिखा गया कि केजरीवाल पूरी तरह भ्रमित हैं, उन्हें यह मालूम नहीं कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को कैसे रोकना है. जब शराब की दुकानें खोली गईं तो केजरीवाल ने किसी से सुझाव नहीं लिए और जब शराब की प्रति बोतल पर कोरोना टैक्स लगाया था, उस समय भी केजरीवाल ने लोगों से सुझाव नहीं मांगे थे.

आज से दिल्ली में नो एंट्री! केजरीवाल के ऐलान के बाद बॉर्डर सील, सिर्फ पास वालों को एंट्री

कांग्रेस की ओर से आरोप लगाया गया कि अब जब स्थिति दिल्ली सरकार के हाथ से निकल चुकी है तो केजरीवाल लोगों से सुझाव मांग रहे है, ताकि केजरीवाल अपनी सरकार की प्रशासनिक विफलताओं का ठीकरा लोगों के सिर पर फोड़ सकें.

भाजपा की ओर से गंभीर ने संभाला मोर्चा

कांग्रेस के अलावा भारतीय जनता पार्टी ने भी दिल्ली सरकार के इस फैसले पर निशाना साधा. बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने ट्विटर के जरिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर तीखा हमला किया.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

गौतम गंभीर ने लिखा, 'अपनी नाकामी छिपाने के लिए, आप निर्दोष लोगों को दंड देना चाहते हो क्योंकि वह बॉर्डर के दूसरी तरफ रहते हैं? वह भी आपकी और मेरी तरह भारतीय हैं! याद है, आपने अप्रैल में कहा था कि आप 30 हजार मरीजों के लिए बिल्कुल तैयार हो? मिस्टर तुगलक अब ऐसे सवाल क्यों उठा रहे हो?'

गौरतलब है कि अनलॉक 1 में देश के अलग-अलग हिस्सों में काफी छूट मिली है, दिल्ली में भी छूट दी गई हैं. हालांकि, बॉर्डर बंद करने का फैसला लिया गया है. इससे आसपास के शहरों से दिल्ली आने वाले लोगों को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है.

दिल्ली दिलवालों की, फिर भी बॉर्डर सील क्यों? AAP नेता राघव चड्ढा ने दिया जवाब

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay