एडवांस्ड सर्च

दिल्ली में 22 साल का सूखा खत्म करने उतरी BJP, PM मोदी के चेहरे पर लड़ेगी चुनाव

लोकसभा चुनाव के आंकड़ों के विश्लेषण के बाद दिल्ली बीजेपी ने पाया है कि दिल्ली की कुल 13 हजार 816 बूथों में से बीजेपी 1808 बूथों पर हारी है. बीजेपी का डेटा विश्लेषण कहता है कि ये बूथ ऐसे हैं जहां मुस्लिम आबादी ज्यादा है या फिर ये क्लस्टर इलाके हैं. इन बूथों को मजबूत करने के लिए दिल्ली बीजेपी के संगठन मंत्री सिद्धार्थ बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग कर रहे हैं.

Advertisement
aajtak.in
रोहित मिश्रा नई दिल्ली, 02 June 2019
दिल्ली में 22 साल का सूखा खत्म करने उतरी BJP, PM मोदी के चेहरे पर लड़ेगी चुनाव दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी धन्यवाद यात्रा के दौरान (फोटो-TWITTER/BJP4Delhi)

लोकसभा चुनाव में सुपर परफॉर्मेंस के बाद दिल्ली बीजेपी अब 8 महीने बाद होने वाली विधानसभा चुनाव के लिए सुपर एक्टिव हो गई है. 70 सीटों की दिल्ली विधानसभा सीटों के लिए बीजेपी ने 60 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है. इसके लिए बीजेपी ने नया नारा दिया है. ये नारा है- पहले जीते सात में सात, अब जीतेंगे सत्तर में साठ. बीजेपी ने अभी से इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी है. मिशन 2020 के लिए बीजेपी ने 5 जून को एक बड़ी मीटिंग बुलाई है, इस मीटिंग में दिल्ली बीजेपी के 3000 नेता शिरकत करेंगे.

लोकसभा चुनाव के आंकड़ों के विश्लेषण के बाद दिल्ली बीजेपी ने पाया है कि दिल्ली की कुल 13 हजार 816 बूथों में से बीजेपी 1808 बूथों पर हारी है. बीजेपी का डेटा विश्लेषण कहता है कि ये बूथ ऐसे हैं जहां मुस्लिम आबादी ज्यादा है या फिर ये क्लस्टर इलाके हैं. इन बूथों को मजबूत करने के लिए दिल्ली बीजेपी के संगठन मंत्री सिद्धार्थ बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग कर रहे हैं. बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ मुस्लिम इलाकों में मौजूदगी बढ़ाने को कहा गया है, उन्हें ज्यादा से ज्यादा मुस्लिम युवाओं को पार्टी के साथ जोड़ने को कहा गया है. यही नहीं बीजेपी कार्यकर्ता गरीब मुसलमानों को मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ने की कोशिश कर रहे हैं.

दिल्ली में 1998 से वनवास

दिल्ली में बीजेपी 22 सालों से सत्ता से बाहर है. बीजेपी राजधानी में 1998 में सत्ता से बाहर हुई थी. देश भर में प्रंचड बहुमत पाने के बावजूद राजधानी में सरकार न बना पाने का मलाल बीजेपी को हमेशा रहा है. वनवास के इस चक्र को तोड़ने के लिए दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी संपर्क अभियान पर जा रहे हैं. मनोज तिवारी बाल्मीकि और झुग्गी इलाकों में रात गुजारेंगे.

दिल्ली में स्लम और बाल्मीकि कॉलोनियों को कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का वोट बैंक माना जाता है. लेकिन इस लोकसभा चुनाव में जेजे कॉलियों में बीजेपी को बढ़त मिली है, इस बढ़त को बरकरार रखने के लिए मनोज तिवारी इन कॉलोनियों में रात गुजारेंगे. वजीराबाद में एक ऐसी बस्ती में रात गुजारकर मनोज तिवारी इसकी शुरुआत कर चुके हैं. मनोज तिवारी पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए सभी 14 सांगठनिक जिलों और 70 विधानसभाओं में जाएंगे.

अवैध कॉलोनियों का मुद्दा

दिल्ली में अवैध कॉलोनियों का रेगुलराइजेशन बड़ा मुद्दा है. दक्षिण दिल्ली से बीजेपी सांसद रमेश विधुड़ी ने कहा है कि दिल्ली में बीजेपी की सरकार बनने के 90 दिनों के अंदर ही अवैध कॉलोनियों को पक्का किया जाएगा. इससे पहले कांग्रेस और आप भी ऐसे वादे कर चुके हैं, लेकिन इसे अबतक अमल में नहीं लाया जा सका है.

सीएम का चेहरा कौन

माना जा रहा है कि गुटबाजी और भीतरघात से बचने के लिए दिल्ली बीजेपी बिना सीएम के चेहरे के विधानसभा चुनाव लड़ेगी. पार्टी वोटरों को लुभाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के चेहरे का ही सहारा लेगी. इसके लिए बीजेपी ने तभी बनेगी बात जब दिल्ली चले मोदी के साथ नारा दिया है. दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता अशोक गोयल ने कहा कि पार्टी केजरीवाल सरकार की नाकामियों को उजागर करेगी. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी 70 विधानसभा में से 65 पर जीत हासिल की है और विधानसभा में हम ये ट्रेंड बरकरार रखेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay