एडवांस्ड सर्च

AAP विधायक की मांग, DDA अपनी FD तुड़वाकर एमसीडी को दें पैसा

भारती ने कहा कि ये पैसा दिल्ली की जनता का है और इसे दिल्ली की जनता की बेहतरी के लिए ही खर्च किया जाना चाहिए. सोमनाथ भारती ने मांग की है कि डीडीए उस पैसे से एमसीडी कर्मचारियों का सारा भुगतान करा दे.

Advertisement
aajtak.in
रवीश पाल सिंह / सना जैदी नई दिल्ली, 12 April 2018
AAP विधायक की मांग, DDA अपनी FD तुड़वाकर एमसीडी को दें पैसा AAP विधायक सोमनाथ भारती (फाइल फोटो)

आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती ने सफाई कर्मचारियों की बार-बार हो रही हड़ताल को खत्म करने के लिए सुझाव दिया है.

सोमनाथ भारती ने कहा कि यदि दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) अपनी एफडी तुड़वाकर एमसीडी को दे तो सफाई कर्मचारियों की सैलरी और एरियर का संकट एक ही बार में खत्म हो जाएगा.

दरअसल, दिल्ली के उपराज्यपाल की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई दिल्ली विकास प्राधिकरण (DDA) की बैठक में डीडीए बोर्ड के सदस्य के तौर पर आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती और एसके बग्गा ने भी हिस्सा लिया. बैठक में आम आदमी पार्टी के विधायकों ने पुरज़ोर तरीक़े से ये बात रखी कि डीडीए के पास 25 हज़ार करोड़ रुपये का वो पैसा मौजूद है जो दिल्ली की ज़मीनें बेच-बेचकर डीडीए ने अर्जित किया है.

डीडीए ने उस पैस की एफडी कराके रखी है. अगर डीडीए चाहे तो वो पैसा एमसीडी को देकर सफ़ाईकर्मियों और निगमकर्मियों की तनख्वाह और उनके सभी तरह के बकाया भुगतान निपटाए जा सकते हैं.

सोमनाथ भारती ने आरोप लगाया कि ‘बीजेपी के नकारेपन की वजह से सफ़ाईकर्मियों और एमसीडी स्टाफ को सैलरी नहीं मिल पा रही है और उनका बकाया भुगतान भी नहीं किया जा रहा है. आए दिन दिल्ली के सफाईकर्मी भुगतान ना होने के चलते हड़ताल पर चले जाते हैं और दिल्ली की सड़कों पर कूड़ा फैल जाता है.

भारती ने दावा किया कि दिल्ली की वर्तमान सरकार तो पहले की कांग्रेस सरकार के मुकाबले कहीं ज्यादा फंड एमसीडी को दे रही है, लेकिन फिर भी एमसीडी अपने कर्मचारियों का भुगतान नहीं कर रही है. सोमनाथ भारती ने बताया कि एमसीडी की 500 करोड़ रुपये से ज्यादा की लेनदारी डीडीए पर बनती है और इस वक्त डीडीए के पास 25 हज़ार करोड़ रुपये का फंड एफडी के तौर पर बैंक में है.

भारती ने कहा कि ये पैसा दिल्ली की जनता का है और इसे दिल्ली की जनता की बेहतरी के लिए ही खर्च किया जाना चाहिए. सोमनाथ भारती ने मांग की है कि डीडीए उस पैसे से एमसीडी कर्मचारियों का सारा भुगतान करा दे. जिससे इस समस्या का निपटारा हो जाए और दिल्ली में नगर निगम का संचालन सुचारू रुप से चल सके. डीडीए उस एफडी से पर्याप्त पैसा एमसीडी को दे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay