एडवांस्ड सर्च

जामा मस्जिद में हुई अलविदा जुमे की नमाज, इस वजह से रो पड़े शाही इमाम

अलविदा जुमे की नमाज में जामा मस्जिद में चालीस-पचास हजार लोग नमाज अदा करते थे. शुक्रवार को वह ऐतिहासिक आंगन सुना पड़ा रहा. इलाके में रहने वालों को भी इस बात का दुख है. लोग दुआ कर रहे हैं कि जल्दी ये कोरोना संकट खत्म हो और जिंदगी पहले जैसी हो जाए.

Advertisement
aajtak.in
तनसीम हैदर नई दिल्ली, 23 May 2020
जामा मस्जिद में हुई अलविदा जुमे की नमाज, इस वजह से रो पड़े शाही इमाम जामा मस्जिद में पहुंचे बहुत कम लोग (फोटो: Aajtak)

  • अलविदा जुमे का खुत्बा पढ़ते हुए रो पड़े शाही इमाम
  • नमाज के बाद दुनिया की बेहतरी के लिए की गई दुआ

जामा मस्जिद में अदा हुई अलविदा जुमे की नमाज. इस दौरान खुत्बा पढ़ते हुए और दुआ करते हुए शाही इमाम बुखारी फूट-फूट कर रोते हुए नजर आए. कुछ लोगों ने ऐतिहासिक जामा मस्जिद में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए नमाज अदा की.

दिल्ली की शाही जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी, अलविदा जुमे का खुत्बा पढ़ते हुए फूट-फूट कर रो पड़े. नमाज का खुत्बा पढ़ते हुए उन्हें एहसास होता रहा कि कभी जहां हजारों नमाजी हुआ करते थे, आज वहां सन्नाटा पसरा हुआ है. दरअसल, कोरोना लॉकडाउन के चलते कुछ गिने-चुने लोग ही वहां नमाज अदा कर पाए. शाही इमाम ने वहां नमाजियों के साथ नमाज के बाद कोरोना वायरस से निजात के लिए और दुनिया की बेहतरी के लिए दुआ भी मांगी.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

अलविदा जुमे की नमाज में जामा मस्जिद में चालीस-पचास हजार लोग नमाज अदा करते थे. शुक्रवार को वह ऐतिहासिक आंगन सुना पड़ा रहा. इलाके में रहने वालों को भी इस बात का दुख है. लोग दुआ कर रहे हैं कि जल्दी ये कोरोना संकट खत्म हो और जिंदगी पहले जैसी हो जाए.

अलविदा जुमे की नमाज के वक्त आसपास के बाजार भी बंद रहे. हालांकि अब दिल्ली सरकार ने सुबह से शाम सात बजे तक दुकानें खोलने की इजाजत दे दी है, लेकिन अलविदा जुमे को लेकर एहतियात बरतते हुए पुलिस ने जामा मस्जिद और पुरानी दिल्ली के बाकी इलाकों में दोपहर तीन बजे के बाद ही दुकान खोलने की गाइडलाइन जारी कर दी थी.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

गाजियाबाद में भी जुमे की नवाज को देखते हुए लॉकडाउन- 4 के नियमों का पालन कराने के लिए गाजियाबाद पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद दिखी. मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र में मस्जिदों और सार्वजनिक जगहों में जहां सार्वजनिक रूप से जुमे की नमाज अदा की जाती थी उन इलाकों में पुलिस लगातार गश्त कर रही थी. गाजियाबाद पुलिस के अनुसार पुलिस अधीक्षकों और एसडीएम की ड्यूटी ऐसे संवेदनशील जगहों पर लगायी गयी थी जहां नियमों का उल्लंघन होने की आशंका थी.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay