एडवांस्ड सर्च

एमसीडी चुनाव के लिए कांग्रेस ने झुग्गियों में झोंकी ताकत

कांग्रेस के पास दिल्ली में ना तो कोई विधायक है और ना ही लोकसभा सांसद. एमसीडी में भी कांग्रेस पिछले 10 साल से विपक्ष में है और ऐसे में दिल्ली की राजनीति में दमदार वापसी के लिए एमसीडी चुनाव ही एकमात्र रास्ता बचा है.

Advertisement
aajtak.in
रवीश पाल सिंह नई दिल्ली, 05 March 2017
एमसीडी चुनाव के लिए कांग्रेस ने झुग्गियों में झोंकी ताकत कालकाजी इलाके में हस्ताक्षर अभियान

एमसीडी चुनाव से पहले कांग्रेस ने एक बार फिर अपना अहम वोट बैंक तलाशना शुरू कर दिया है. कांग्रेस पार्टी झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले लोगों को लुभाने में लगी है. रविवार को दिल्ली कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने कालकाजी इलाके से झुग्गियों में हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत की है.

कालकाजी इलाके के नवजीवन कैंप झुग्गी में पहुंचकर अजय माकन ने आम आदमी पार्टी और बीजेपी पर जमकर हमला बोला. माकन ने आम आदमी पार्टी पर झुग्गी वालों के साथ वादा खिलाफी का आरोप लगाया. माकन ने बताया कि इलाके में कांग्रेस की सरकार ने ही झुग्गी वालों के लिए 3 हजार पक्के मकान बनाने शुरु किए थे. साल 2013 में शुरु हुए मकानों को 2016 में पूरा हो जाना चाहिए था लेकिन ये काम 2017 तक भी काम पूरा नहीं हुआ.

अजय माकन ने कहा कि झुग्गियों में रहने वाले अब खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं और इसलिए कांग्रेस लोगों के बीच पहुंच रही है. माकन इस दौरान झुग्गियों में गए और लोगों से बात भी की. अजय माकन ने बताया कि इस तरह के अभियान अभी दिल्ली के दूसरे स्लम्स में भी चलाए जाएंगे.

राहुल गांधी करेंगे रैली
कांग्रेस 7 मार्च को एमसीडी चुनाव का बिगुल फूंकेगी. इस दिन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली के रामलीला मैदान में रैली को संबोधित करेंगे. राहुल की रैली में ज्यादा से ज्यादा लोग पहुंचें इसके लिए कांग्रेस कार्यकर्ता अपने-अपने इलाकों में लोगों को संबोधित कर रहे हैं. रविवार को भी शाहीन बाग के अबुल फज़ल एन्क्लेव में कार्यकर्ताओं ने रैली के लिए लोगों से बात की. इस इलाके में बड़ी तादाद में मुस्लिम आबादी रहती है.

आपको बता दें कि 15 सालों तक दिल्ली की सत्ता पर काबिज़ कांग्रेस फिलहाल दिल्ली की राजनीति में सबसे निचले पायदान पर है. कांग्रेस के पास दिल्ली में ना तो कोई विधायक है और ना ही लोकसभा सांसद. एमसीडी में भी कांग्रेस पिछले 10 साल से विपक्ष में है और ऐसे में दिल्ली की राजनीति में दमदार वापसी के लिए एमसीडी चुनाव ही एकमात्र रास्ता बचा है. राहुल गांधी की रैली की सफलता काफी हद तक एमसीडी चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन तय कर सकती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay