एडवांस्ड सर्च

एमसीडी चुनाव: AAP ने काटा टिकट तो निर्दलीय दावेदारी को तैयार प्रत्याशी

टिकट कटने से परिवार के लोग और समर्थकों में निराशा है क्योंकि कमरे में रखी प्रचार सामग्री बुकलेट, पर्चे, स्टीकर, बैच, झंडे, सर्वे फार्म, टोपी, ई-रिक्शा, लेड स्क्रीन पर पवाड़िया हजारों रुपए खर्च कर चुके हैं.

Advertisement
aajtak.in
पंकज जैन नई दिल्ली, 21 March 2017
एमसीडी चुनाव: AAP ने काटा टिकट तो निर्दलीय दावेदारी को तैयार प्रत्याशी प्रत्याशी ने AAP विधायक को बताया जिम्मेदार

दिल्ली में एमसीडी चुनाव नजदीक आते ही टिकटों को लेकर घमासान बढ़ता जा रहे है. सोमवार को आम आदमी पार्टी ने द्वारका विधानसभा के मंगलापुरी वार्ड 33S से अपने उम्मीदवार विजय पवाड़िया का टिकट काट दिया है. पार्टी ने विजय पवाड़िया की उम्मीदवारी का ऐलान पहली लिस्ट में ही कर दिया था लेकिन अब इस सीटे से 'आप' के नए उम्मीदवार नरेंद्र कुमार चुनाव लड़ रह हैं.

आम आदमी पार्टी से टिकट कट जाने के बाद विनोद पवाड़िया ने इलाके के विधायक आदर्श शास्त्री पर सवाल खड़े किए हैं. पवाड़िया का कहना है कि टिकट काटने की वजह समझ नहीं आई क्योंकि जिला प्रभारी और पर्यवेक्षक ने अपनी रिपोर्ट में ऐसा कुछ नहीं बताया कि मेरी टिकट कटी जा सके. विधायक आदर्श शास्त्री इलाके में कभी आते नहीं हैं, उनका सारा काम मैं ही संभालता हूं. विधायक ने ऐसे लोगों की टीम बना रखी है जो खर्चा-पानी निकालने का काम करते हैं. उन्होंने कहा कि आदर्श शास्त्री को लगा कि मैं एक मजबूत उम्मीदवार हूं और उनकी मुसीबत बढ़ा सकता हूं शायद इसलिए मेरा टिकट काट दिया गया.

विजय पवाड़िया के मुताबिक पहली लिस्ट में उम्मीदवारी का ऐलान होने के बाद उन्हें 25 तारीख को सीएम हाउस पर बुलाकर, प्रचार की सामग्री तैयार करने लिए कहा गया था. फ़िलहाल पवाड़िया का घर, पार्टी दफ़्तर में बदल चुका है. परिवार के लोग और समर्थकों में निराशा है क्योंकि कमरे में रखी प्रचार सामग्री बुकलेट, पर्चे, स्टीकर, बैच, झंडे, सर्वे फार्म, टोपी, ई-रिक्शा, लेड स्क्रीन पर पवाड़िया हजारों रुपए खर्च कर चुके हैं. विजय पवाड़िया प्रचार का सामान दिखाते हुए बताते हैं कि वो अबतक दिल्ली सरकार के कामकाज वाले पेम्पलेट से 3500 हजार घरों में और मोबाइल एप से 2500 लोगों का सर्वे भी करा चुके हैं.

उम्मीदवारी ख़त्म होने से नाराज़ विजय पवाड़िया ने बताया कि आम आदमी पार्टी ने उनके खिलाफ एक एफआईआर का हवाला देकर टिकट काटा है. पवाड़िया का कहना है कि ये सीवर डालने का एक मामला था, पार्षद ने काम रोकने के लिए कहा तो विधायक आदर्श शास्त्री ने मुझे वहां जाने के लिए कहा, जिसके बाद पार्षद ने मेरे खिलाफ मामला दर्ज करवाया था. फ़िलहाल पवाड़िया आम आदमी पार्टी पर मानहानि का केस करने की बात कह रहे हैं और मंगलापुरी वार्ड से निर्दलीय चुनाव भी लड़ सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay