एडवांस्ड सर्च

फंड विवाद में आम आदमी पार्टी ने मांगा मनोज तिवारी का इस्तीफा

मामला नगर निगम को जारी फंड का है. तिवारी के मुताबिक केंद्र ने दिल्ली सरकार को 48 हजार करोड़ रुपए दिए हैं जबकि दिल्ली सरकार इससे इनकार कर रही है.

Advertisement
aajtak.in
रविकांत सिंह/ पंकज जैन नई दिल्ली, 08 October 2018
फंड विवाद में आम आदमी पार्टी ने मांगा मनोज तिवारी का इस्तीफा सौरव भारद्वाज (फोटो-आजतक आर्काइव)

केंद्र सरकार के ज़रिये दिल्ली सरकार और दिल्ली सरकार से नगर निगम को मिलने वाले फंड पर राजनीतिक बयानबाज़ी का सिलसिला थम नहीं रहा. आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी की ओर से दिल्ली सरकार के बजट पर दिए गए आंकड़ों पर एक जवाबी बयान जारी किया है.

मनोज तिवारी ने ट्वीट किया था कि केजरीवाल सरकार को केंद्र से 48000 करोड़ रुपए मिले हैं. जबकि दिल्ली सरकार का लगभग 95 फीसदी बजट खुद के स्रोत का होता है. उनके इस ट्वीट का जवाब देते हुए भारद्वाज ने कहा, चाहे वो केंद्र सरकार की ओर से दिल्ली सरकार को दिया जाने वाला पैसा हो, या MCD में कर्मचारियों की तनख्वाह को लेकर दिल्ली सरकार से दिया गया फंड, मनोज तिवारी की आदत ही झूठ बोलना है.

आगे अपने बयान में भारद्वाज ने BJP से सवाल करते हुए पूछा, 'क्या ये सब BJP के राष्ट्रीय नेताओं की मिलीभगत से झूठ बोला जा रहा है क्योंकि सबको पता है कि कैसे नरेंद्र मोदी की सरकार दिल्ली के साथ सौतेला व्यवहार करती आ रही है.' भारद्वाज ने कहा, आम आदमी पार्टी की ये मांग है कि फंड पर दिए बयान के बाद दिल्ली BJP के अध्यक्ष जनता से माफी मांगें और अपने पद से इस्तीफा दें.

'आप' प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने आरोप लगाते हुए कहा कि "अगर मनोज तिवारी अपना पद नहीं छोड़ते हैं तो BJP का राष्ट्रीय नेतृत्व उन्हें हटाए, वरना ये साफ हो जाएगा ये सब BJP के राष्ट्रीय नेताओं की सहमति से झूठ बोला जा रहा है." आम आदमी पार्टी ने मनोज तिवारी को चुनौती दी है कि अगर कोई ऐसा दस्तावेज है जिसमें लिखा है कि दिल्ली सरकार को 325 करोड़ के अलावा कोई पैसा मिला है, तो उसे पब्लिक में लाएं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay