एडवांस्ड सर्च

विधायकों की कुर्सी गई, अब कांग्रेस ने मांगा केजरीवाल का इस्तीफा

आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता चले जाने के बाद कांग्रेस ने सीएम अरविंद केजरीवाल पर हमला और तेज़ कर दिया है. पढ़ें पूरी खबर...

Advertisement
aajtak.in
वंदना भारती/ रवीश पाल सिंह नई दिल्ली, 22 January 2018
विधायकों की कुर्सी गई, अब कांग्रेस ने मांगा केजरीवाल का इस्तीफा कांग्रेस ने केजरीवाल से मांगा इस्तीफा

आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता चले जाने के बाद कांग्रेस ने सीएम अरविंद केजरीवाल पर हमला और तेज़ कर दिया है.  सोमवार को इसी मुद्दे को आगे बढ़ाते हुए दिल्ली कांग्रेस ने एक बड़ा विरोध प्रदर्शन किया और सीएम केजरीवाल का इस्तीफा मांगा.

इस दौरान दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के दफ्तर से दिल्ली सचिवालय तक डीडीयू रोड पर पैदल मार्च निकाला गया, जिसमें हजारों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया. हालांकि पुलिस नेबैरिकेडिंग कर प्रदर्शनकारियों को आईटीओ पहुंचने से पहले ही रोक लिया. इस विरोध मार्च की अगुवाई दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने की. इस दौरान अजय माकन ने केजरीवाल पर जमकर हमला किया. आम आदमी पार्टी की ओर से लगाये जा रहे सभी आरोपों को खारिज कर दिया.

केजरीवाल का इस्तीफा मांगा

अजय माकन ने प्रदर्शन के दौरान मांग की है कि 20 विधायकों की सदस्यता जाने के बाद केजरीवाल को अब सीएम की कुर्सी पर बने रहने का कोई अधिकार नहींहै और उन्हें अब मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.  

सोनिया का दिया उदाहरण

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि जब लाभ का पद मामले में सोनिया गांधी को इस्तीफा देकर फिर से चुनाव लड़ना पड़ा, तो फिर ये 20 विधायक क्यों डर रहे हैं.

चुनाव आयोग के पास सारे दस्तावेज

अजय माकन ने AAP के उस आरोप को भी झूठा कहा, जिसमें उन्होंने एक पैसे का भी लाभ ना लेने की बात की थी.माकन ने कहा कि सब कुछ बड़ा साफ है. चुनाव आयोग के पास सभी डॉक्युमेंट हैं कि इन विधायकों के फर्नीचर पर कितने पैसे खर्च हुए हैं. इनके दफ्तर के रेनोवेशन पर कितने रुपये खर्च हुए हैं.

जरूरत से ज्यादा हैं दिल्ली में मंत्री

माकन ने आरोप लगाया कि जब दिल्ली के अंदर 7 मंत्रियों का प्रावधान है तो फिर 28 मंत्री कैसे हो सकते हैं. लाभ के पद मामले में आप विधायकों की कुर्सियां चली जाने को सही बताते हुए अजय माकन ने जया बच्चन का उदाहरण दिया. माकन ने कहा कि जब जया बच्चन का लाभ का पद का मसला हुआ था, तो 6 महीने में फैसला आ गया था .लेकिन इस मामले में तो फैसला आने में 2 साल लगगए.

सिसोदिया का दावा गलत

अजय माकन ने मनीष सिसोदिया के उस आरोप को भी झूठा करार दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि चुनाव आयोग ने विधायकों का पक्ष नहीं सुना. माकन ने कहा कि हमने 11 तारीखों की सूची दी है, जब-जब इनकी सुनवाई हुई. ये झूठ क्यों बोल रहे हैं. माकन ने आरोप लगाया कि आमआदमी पार्टी खुद को कानून से ऊपर समझती है और इसलिए उन्होंने पहले जानबूझकर गलती की और अब खुद को पीड़ित बता रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay