एडवांस्ड सर्च

मोदी का कार्यकाल संतोषजनक लेकिन सुधार की जरुरत: श्री श्री रविशंकर

श्री श्री रविशंकर ने भरोसा दिलाया कि विदेशों से काला धन वापस आएगा. इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी बात हुई है. और प्रधानमंत्री ने आश्वस्त किया है कि काले धन की वापसी के लिए उनकी सरकार कड़े कदम उठा रही है.

Advertisement
aajtak.in
सुनील नामदेव रायपुर, 28 February 2017
मोदी का कार्यकाल संतोषजनक लेकिन सुधार की जरुरत: श्री श्री रविशंकर श्री श्री रविशंकर

तारीख पे तारीख मिलती जा रही है जज साहब लेकिन इंसाफ अब तक नहीं मिल पाया. कुछ इसी तरह का हाल आध्यातिमक गुरु श्री श्री रविशंकर का है. दिल्ली में यमुना किनारे आयोजित हुए वर्ल्ड कल्चर फेस्टिवल को लेकर लंबा अरसा बीत चुका है. लेकिन श्री श्री रविशंकर की संस्था को वो चार करोड़ रुपए नहीं मिल पाए जो बतौर धरोहर उन्होंने NGT में जमा कराए थे. श्री श्री रविशंकर के मुताबिक इस रकम के वापसी के लिए NGT ने भरोसा दिलाया था लेकिन अब वो टालमटोल कर रहा है. उनकी सुनवाई तक नहीं हो रही है. जबकि यमुना किनारे पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचा.

आर्ट ऑफ लिविंग के प्रणेता और आध्यत्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर का कहना है कि वो ना तो भाजपाई है और ना ही किसी राजनैतिक दल से उनका कोई नाता है. श्री श्री इन दिनों छत्तीसगढ़ के प्रवास पर हैं. यहां वो नक्सलियों और सरकार के बीच बातचीत का रास्ता ढूंढ रहे हैं. पत्रकारों से रूबरू होते हुए रविशंकर ने कहा कि उन्हें प्रो BJP माइंडेड होने का जो लोग मतलब निकाल रहे हैं वो गलत है , वो पूरी तरह से तटस्थ हैं. उन्होंने कभी भी किसी राजनैतिक दल के लिए कोई ऐसा काम नहीं किया जिससे की उन पर किसी पार्टी विशेष के करीब होने का आरोप लग सके.

बातचीत के दौरान श्री श्री रविशंकर की NGT के प्रति टीस भी सामने आई. उनके मुताबिक वर्ल्ड कल्चर फेस्टिवल ने हमारे देश का गौरव बढ़ाया. जबकि कई लोगों ने पर्यावरण को होने वाले नुकसान के अंदेशे को लेकर इस आयोजन पर उंगलिया उठाईं. उन्होंने कहा कि वो उस रकम को लेकर रहेंगे जो उनकी संस्था ने धरोहर के रूप में NGT में जमा कराई थी.

श्री श्री रविशंकर ने भरोसा दिलाया कि विदेशों से काला धन वापस आएगा. इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी बात हुई है. और प्रधानमंत्री ने आश्वस्त किया है कि काले धन की वापसी के लिए उनकी सरकार कड़े कदम उठा रही है. श्री श्री रविशंकर का कहना है कि मोदी सरकार का अब तक का कार्यकाल संतोषजनक रहा है. लेकिन उसमें और सुधार की जरूरत है. उन्होंने बताया कि उनकी संस्था ने भिलाई में हैपिनेस सर्वे किया था. इसमें मात्र सात फीसदी लोग ही खुश दिखाई पड़े. उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि लोगों को तनाव मुक्त रखने के लिए बहुत कुछ किया जाना बाकी है.

आपको बता दें कि, श्री श्री रविशंकर ने छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान नक्सल प्रभावित बीजापुर का दौरा किया. इसके अलावा उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा में प्रवचन भी दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay