एडवांस्ड सर्च

छत्तीसगढ़ को नक्सल मुक्त करने के लिए चलेगा 'मिशन टारगेट': रमन सिंह

लिहाजा हमें सुकमा को इस समस्या से मुक्त कराने के लिए स्पष्ट लक्ष्य के साथ एक अभियान शुरू करने की योजना बनानी चाहिए, जिसके तहत अंदरुनी इलाकों में करवाई करने का लक्ष्य हो.

Advertisement
aajtak.in
जितेंद्र बहादुर सिंह रायपुर, 08 May 2017
छत्तीसगढ़ को नक्सल मुक्त करने के लिए चलेगा 'मिशन टारगेट': रमन सिंह छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह

गृहमंत्री राजनाथ के नेतृत्व में आयोजित बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि सुकमा में माओवादियों के लिए स्वर्ग बना चिंतागुफा का अंदरूनी क्षेत्र बेहद खतरनाक है. लिहाजा हमें सुकमा को इस समस्या से मुक्त कराने के लिए स्पष्ट लक्ष्य के साथ एक अभियान शुरू करने की योजना बनानी चाहिए, जिसके तहत अंदरुनी इलाकों में करवाई करने का लक्ष्य हो. इसके तहत बड़े नक्सलियों को निशाना बनाया जाए, हवाई यातायात को दुरुस्त करने के लिए काम शुरू किया जाए, मैदान पर पकड़ बनाना जाए, वामपंथी उग्रवादियों को निकाल फेंका जाए, सड़क का निर्माण और क्षेत्र के विकास की निरंतरता के लिए काम किया जाए.

उन्होंने कहा कि इसके अलावा हमने छत्तीसगढ़ में 5 मई को जब यूनिफाइड कमांड की बैठक की थी, तब स्ट्रैटेजिक फैसला लेने के लिए यह योजना बनाई कि जिला स्तर पर पुलिस अधीक्षक को ऑपरेशन लेवल पर लीड करने का अवसर जब तक नहीं मिलेगा, तब तक समुचित ऑपरेशन को अंजाम नही दिया जा सकता है. इसी बात को लेकर हमने डीजी सीआरपीएफ के साथ बैठक की थी, जिसमें पुलिस अधीक्षक को मुखिया बनाने की सहमति बनी.

गृहमंत्री के नेतृत्व में चली इस बैठक में रमन सिंह ने सूबे के बैंक में नकदी खासकर 500 और 2,000 के नोटों की कमी का मुद्दा भी उठाया. उन्होंने कहा कि दैनिक तौर पर 1500 करोड़ रुपये कैश बैलेंस के एवज में यहां सिर्फ 900 से 1000 करोड़ रुपये मात्र रह गया है. इससे ATM पर समस्या बढ़ रही है. कम भुगतान और किसानों के फाइनेंस पर प्रभाव पड़ रहा है.

उऩ्होंने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक को अपने क्षेत्रीय कार्यालयों के माध्यम से हमारे बैंकों को ज्यादा बेहतर मदद करते हुए इस समस्या के त्वरित समाधान हेतु कदम उठाना चाहिए. बैठक में रमन सिंह ने बताया कि छत्तीसगढ़ के वामपंथी इलाकों में 146 टावरों लगाए गए हैं, जिसके चलते BSNL के टावर से दूरसंचार में लोगों को होने वाली कठिनाइयां दूर हो रही हैं. इसके अतिरिक्त दूरसंचार विभाग ने 35 अतिरिक्त टावरों की स्वीकृति दी है. जगदलपुर एयरपोर्ट के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि नागरिक उड्डयन मंत्रालय अगर इस एयरपोर्ट की जल्दी अनुमति दे देगा, तो इसको हवाई मार्ग से जोड़ा जा सकेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay