एडवांस्ड सर्च

Advertisement

नोटबंदी पर भिड़ गए बीजेपी-कांग्रेस कार्यकर्ता, कई घायल

बीजेपी कार्यकर्ताओं की ओर से रैली निकाल रहे कांग्रेस नेताओं की ओर चूड़ियां फेंकी गई और नारेबाजी की गई. बीजेपी-कांग्रेस के बीच नारेबाजी से शुरू हुआ यह हंगामा देखते ही देखते हिंसक झड़प में तब्दील हो गया.
नोटबंदी पर भिड़ गए बीजेपी-कांग्रेस कार्यकर्ता, कई घायल नोटबंदी को लेकर रैली निकाल रहे बीजेपी-कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प
सुनील नामदेव [Edited By: आशुतोष]रायपुर, 08 November 2017

नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर बीजेपी और कांग्रेस ने देशभर में एकदूसरे के खिलाफ कमानें तान ली हैं. लेकिन छत्तीसगढ़ में यह राजनीतिक जंग मारपीट तक पहुंचती नजर आ रही है. बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने छत्तीसगढ़ में पूरे हफ्ते नोटबंदी की कामयाबी बताने के लिए कार्यक्रमों के आयोजन की योजना बनाई है. वहीं कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी राजनीतिक दल नोटबंदी को सरकार का आत्मघाती कदम बताते हुए धरना प्रदर्शनों का आयोजन कर रहा है.

इस बीच नोटबंदी की बरसी पर बुधवार को रायपुर में बीजेपी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं आमने-सामने आ गए और उनके बीच जमकर झड़प हुई. दोनों ओर से पत्थर बाजी भी हुई, जिसमें दोनों ही पक्षों के लोग घायल हुए हैं. हालांकि गंभीर चोट किसी को भी नहीं आई है.

बीजेपी और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच यह हिंसक झड़प रायपुर के गुढ़ियारी इलाके में हुई. यह झड़प उस दौरान हुई, जब नोटबंदी के विरोध में कांग्रेस के तमाम आला नेता काला दिवस मनाने जुटे थे. इसी दौरान भारी तादाद में बीजेपी कार्यकर्ता भी वहां पहुंचे. बीजेपी कार्यकर्ताओं की ओर से रैली निकाल रहे कांग्रेस नेताओं की ओर चूड़ियां फेंकी गई और नारेबाजी की गई. बीजेपी-कांग्रेस के बीच नारेबाजी से शुरू हुआ यह हंगामा देखते ही देखते हिंसक झड़प में तब्दील हो गया.

पुलिस की मौजूदगी में जमकर हुई पत्थरबाजी

मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक हंगामे के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं की ओर से रैली निकाल रहे कांग्रेसियों के ओर पत्थर फेंके गए . जवाब में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने भी बीजेपी कार्यकर्ताओं की ओर पत्थरों से हमला बोल दिया. सबसे हैरान करने वाला यह रहा कि पूरा वाकया पुलिस की मौजूदगी में चलता रहा. तनाव की स्थिति बनती देख हरकत में आई पुलिस ने बलपूर्वक प्रदर्शनकारियों को काबू में लाने की कोशिश की. काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने हंगामे पर काबू पाया और हिंसा में शामिल प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया. इस दौरान भीड़ को काबू कर रहे करीब आधा दर्जन पुलिसकर्मियों को भी चोटें आईं.

पुनिया ने बीजेपी को ठहराया जिम्मेदार

नोटबंदी के प्रदर्शन के दौरान हुए पथराव पर कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया ने तीखी नाराजगी जताई है. पुनिया ने पथराव के लिए पूरी तरह से बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया. पुनिया ने बीजेपी की इस कार्रवाई को तानाशाही प्रवृति करार दिया. पुनिया के मुताबिक बीजेपी के लोग ही कालाधन वाले लोग हैं. पुनिया ने इस दौरान पुलिस पर बीजेपी के उपद्रवियों को बचाने का भी आरोप लगाया.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay