एडवांस्ड सर्च

छत्तीसगढ़ चुनाव: BJP के गढ़ मुंगेली में क्या जीत पाएगी कांग्रेस?

छत्तीसगढ़ की मुंगेली विधानसभा सीट अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित है और ये बीजेपी की मजबूत सीट मानी जाती है. कांग्रेस से टिकट के लिए 20 लोगों ने आवेदन किए हैं.

Advertisement
कुबूल अहमदनई दिल्ली, 08 September 2018
छत्तीसगढ़ चुनाव: BJP के गढ़ मुंगेली में क्या जीत पाएगी कांग्रेस? पीले कुर्ते में बीजेपी विधायक पुन्नुलाल मोहले

छत्तीसगढ़ की मुंगेली विधानसभा सीट अनूसुचित जाति के लिए आरक्षित है. पिछले दो चुनाव से बीजेपी का इस सीट पर कब्जा है. राज्य के गठन के बाद हुए चुनाव में कांग्रेस जीत हासिल करने में कामयाब रही है, लेकिन जब 2008 में हारी तो फिर दोबारा से वापसी नहीं कर सकी है. अब एक बार जीत की जद्दोजहद में जुटी है.

मुंगेली की पहचान

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले से अलग होकर मुंगेली जिला बना है. आगर नदी, मनियारी, रहन और शिवनाथ नदी के आंचल में फैले इस जिले में अचानकमार, टाईगर रिजर्व सहित सेतगंगा, मदकूद्वीप जैसे ऐतिहासिक स्थल भी सैलानियों के आकर्षण का केंद्र हैं.

मुंगेली विधानसभा के लिए कांग्रेस के 20 टिकटार्थियों ने आवेदन जमा किए हैं. जबकि बीजेपी अपने मौजूदा विधायक पुन्नुलाल मोहले को ही मैदान में उतारने का बन बना रही है.

2013 के नतीजे

बीजेपी के पुन्नुलाल मोहले को 61026  वोट मिले थे.    

कांग्रेस के चंद्रभान को 58281 वोट मिले थे.

2008 के नतीजे

बीजेपी के पुन्नुलाल मोहले को 52074 वोट मिले थे.

कांग्रेस के चूरावान मंगेशकर को 41749 वोट मिले थे.

2003 के परिणाम    

कांग्रेस के चंद्रभान को 41377 वोट मिले मिले थे.

बीजेपी के विक्रम मोहले  को 34621 मिले थे.

छत्तीसगढ़ के समीकरण

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं. राज्य में अभी कुल 11 लोकसभा और 5 राज्यसभा की सीटें हैं. छत्तीसगढ़ में कुल 27 जिले हैं. राज्य में कुल 51 सीटें सामान्य, 10 सीटें एससी और 29 सीटें एसटी के लिए आरक्षित हैं.

2013  में राज्य के कुल नतीजे

2013 में विधानसभा चुनाव के नतीजे 8 दिसंबर को घोषित किए गए थे. इनमें भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में लगातार तीसरी बार कांग्रेस को मात देकर सरकार बनाई थी. रमन सिंह की अगुवाई में बीजेपी को 2013 में कुल 49 विधानसभा सीटों पर जीत मिली थी. जबकि कांग्रेस सिर्फ 39 सीटें ही जीत पाई थी. जबकि 2 सीटें अन्य के नाम गई थीं.

2008 के मुकाबले बीजेपी को तीन सीटें कम मिली थीं, इसके बावजूद उन्होंने पूर्ण बहुमत से अपनी सरकार बनाई. रमन सिंह 2003 से राज्य के मुख्यमंत्री हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay