एडवांस्ड सर्च

छत्तीसगढ़ चुनाव: कांग्रेस के गढ़ कटघोरा में कमल का कब्जा, इस बार त्रिकोणीय मुकाबला!

छत्तीसगढ़ के कटघोरा विधानसभा सीट पर आजादी के बाद से छत्तीसगढ़ के गांधी कहे जाने वाले कांग्रेस के बोधराम कंवर का वर्चस्व रहा है, लेकिन पिछले चुनाव में बीजेपी ने जीत हासिल की थी. बदले समीकरण में इस बार का त्रिकोणीय  मुकाबला होने की उम्मीद है.

Advertisement
Sahitya Aajtak 2018
कुबूल अहमदनई दिल्ली, 08 September 2018
छत्तीसगढ़ चुनाव: कांग्रेस के गढ़ कटघोरा में कमल का कब्जा, इस बार त्रिकोणीय मुकाबला! बीजेपी विधायक लखनलाल देवांगन

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले की कटघोरा विधानसभा सीट पर बीजेपी का कब्जा है. जबकि इससे पहले कांग्रेस का मजबूज गढ़ माना जाता था. इस बार बदले सियासी समीकरण में अजीत जोगी की पार्टी की दस्तक से मुकाबला दिलचस्प और त्रिकोणीय होने की उम्मीद है.

कटघोरा की खासियत

कटघोरा रोड पर पुटका पहाड़ की चोटी पर स्थित कोसगईगढ़ बहुत खूबसूरत है. कोसगईगढ़ में एक खूबसूरत किला है. यहां मड़वारानी देवी की मन्दि एक चोटी पर है. मन्दिर के पास खूबसूरत शंकर गुफा भी है, जो लगभग 25 फीट लंबी है. मन्दिर और गुफा देखने के अलावा पर्यटक इसकी प्राकृतिक सुन्दरता की झलकियां भी देख सकते हैं. इसके अलावा यहां पर पर वन्य पशु-पक्षियों को देख सकते हैं.

2013 के चुनाव नतीजे

बीजेपी के लखनलाल देवांगन को 61646 वोट मिले थे.

कांग्रेस के बोधराम कंवर को 48516 वोट मिले थे.

2008 में चुनाव परिणाम

कांग्रेस के बोधराम कंवर को 38929 वोट मिले थे.

बीजेपी के ज्योतिनंद दुबे को 31963 वोट मिले थे.

2003 के नतीजे

कांग्रेस के बोधराम कंवर को 79049 वोट मिले थे.

बीजेपी के बनवारी लाल को 7519 वोट मिले थे.

कभी बोधराम की तूती बोलती थी

आदिवासी बाहुल्य कोरबा जिले की चार विधानसभा सीट में से दो आदिवासी वर्ग के लिए आरक्षित है तो दो सीट सामान्य वर्ग के लिए. कटघोरा विधानसभा सीट पर आजादी के बाद से छत्तीसगढ़ के गांधी कहे जाने वाले कांग्रेस के बोधराम कंवर का वर्चस्व रहा है.

बता दें कि 1993 तक कंवर लगातार इस सीट से विधायक बनते रहे हैं. 1993 और 1998 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के बनवारी लाल ने कटघोरा विधानसभा सीट से जीत दर्ज करने में कामयाब रहे थे. 2003 के विधानसभा चुनाव में बोधराम कंवर से हार का सामना करना पड़ा.

2013 तक कंवर ही इस सीट से विधायक रहे. 2013 के चुनाव में बीजेपी के मिस्टर क्लीन कहे जाने वाले लखनलाल देवांगन से बोधराम कंवर को हार का सामना करना पड़ा. अब एक बार चुनाव रणभूमि तैयार है ऐसे में अजीत जोगी की पार्टी भी तैयारी में जुट गई है, जिसके चलते माना जा रहा है कि त्रिकोणीय मुकाबला होगा.

छत्तीसगढ़ के समीकरण

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं. राज्य में अभी कुल 11 लोकसभा और 5 राज्यसभा की सीटें हैं. छत्तीसगढ़ में कुल 27 जिले हैं. राज्य में कुल 51 सीटें सामान्य, 10 सीटें एससी और 29 सीटें एसटी के लिए आरक्षित हैं.

2013  के नतीजे

2013 में विधानसभा चुनाव के नतीजे 8 दिसंबर को घोषित किए गए थे. इनमें भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में लगातार तीसरी बार कांग्रेस को मात देकर सरकार बनाई थी. रमन सिंह की अगुवाई में बीजेपी को 2013 में कुल 49 विधानसभा सीटों पर जीत मिली थी. जबकि कांग्रेस सिर्फ 39 सीटें ही जीत पाई थी. जबकि 2 सीटें अन्य के नाम गई थीं.

2008 के मुकाबले बीजेपी को तीन सीटें कम मिली थीं, इसके बावजूद उन्होंने पूर्ण बहुमत से अपनी सरकार बनाई. रमन सिंह 2003 से राज्य के मुख्यमंत्री हैं.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay