एडवांस्ड सर्च

सास-ससुर की संपत्ति पर बहू का हक नहीं

दिल्ली की एक अदालत ने एक महिला को अपने सास-ससुर के मकान में रहने के अधिकार से वंचित कर दिया है. अदालत ने कहा कि उसका अपने ससुर की संपत्ति पर कोई अधिकार नहीं है.

Advertisement
aajtak.in
aaajtak.in [Edited By: योगेंद्र कुमार]नई दिल्ली, 05 January 2015
सास-ससुर की संपत्ति पर बहू का हक नहीं symbolic image

दिल्ली की एक अदालत ने एक महिला को अपने सास-ससुर के मकान में रहने के अधिकार से वंचित कर दिया है. अदालत ने कहा कि उसका अपने ससुर की संपत्ति पर कोई अधिकार नहीं है.

मजिस्ट्रेट अदालत का आदेश निरस्त करते हुए अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश पुलस्त्य प्रमाचला ने महिला के ससुर की ओर से दायर अपील स्वीकार कर ली. अदालत ने कहा कि वह उस मकान में आवास के अधिकार का दावा करने की तभी हकदार है जब यह संपत्ति उसके पति की हो या उसमें उसका हिस्सा हो.

सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले के आधार पर न्यायाधीश ने कहा, 'पुत्रवधू का उस संपत्ति में कोई अधिकार नहीं है, जो उसके सास-ससुर की है. इस तरह की संपत्ति को साझा आवास नहीं माना जा सकता है.’

अदालत ने महिला के आवास के अधिकार के दावे पर नए सिरे से विचार करने के लिए मामला वापस मजिस्ट्रेट अदालत के पास भेज दिया है और महिला तथा उसके सास-ससुर को निर्देश दिया है कि वे मजिस्ट्रेट अदालत के समक्ष उपस्थित हों.

(इनपुट- IANS)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay