एडवांस्ड सर्च

शत्रुघ्न सिन्हा ने की PM मोदी से अपील- आपके समर्थ नेतृत्व की पहले से ज्यादा जरूरत है

पीएम मोदी की तीखी आलोचनाओं के लिए चर्चित शत्रुघ्न सिन्हा का रुख अब नरम है. उन्होंने एक ट्वीट कर कहा है कि बिहार की बदहाल व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए पीएम मोदी के समर्थ नेतृत्व की पहले से कहीं ज्यादा जरूरत है.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: नवनीत मिश्र]नई दिल्ली, 24 June 2019
शत्रुघ्न सिन्हा ने की PM मोदी से अपील- आपके समर्थ नेतृत्व की पहले से ज्यादा जरूरत है कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा (फाइल फोटो).

लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद से कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा का रुख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर नरम हुआ है. बीजेपी से टिकट न मिलने पर पटना साहिब सीट से कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़कर हार चुके शत्रुघ्न सिन्हा हाल के दिनों में कई बार पीएम मोदी की तारीफ कर चुके हैं. जहां नतीजों के तुरंत बाद उन्होंने अमित शाह को बेहतर रणनीतिकार बताते हुए पीएम मोदी को बधाई दी थी. वहीं बाद में सरकार की ओर से पांच करोड़ अल्पसंख्यकों के लिए वजीफे की घोषणा को भी शानदार शुरुआत करार दिया था. अब बिहार के मुजफ्फरपुर में बच्चों की हो रही मौतों को लेकर भी उन्होंने पीएम मोदी से एक खास अपील की है. यह अपील है संकट से जूझते बिहार की मदद की. शत्रुघ्न सिन्हा के मुताबिक बिहार की व्यवस्था में सुधार के लिए पीएम मोदी के हस्तक्षेप और समर्थ नेतृत्व की पहले से कहीं ज्यादा जरूरत है.

Sir, I humbly appeal & request that you, as PM of a nation fast aspiring to become a global leader, intervene immediately to develop and execute a roadmap of recovery for Bihar. Your able leadership, guidance & support is required now, more than ever! Jai Hind!

— Shatrughan Sinha (@ShatruganSinha) June 21, 2019

शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने ट्वीट में पीएम मोदी से कहा- सर, मैं विनम्रतापूर्वक अपील और अनुरोध करता हूं कि आप एक राष्ट्र के प्रधानमंत्री के रूप में तेजी से एक वैश्विक नेता बनने के इच्छुक हैं. बिहार में सुधार के लिए एक रोडमैप बनाने और इसे अमल में लाने के लिए आप तुरंत हस्तक्षेप करें. आपके सक्षम नेतृत्व, मार्गदर्शन और समर्थन की पहले से कहीं ज्यादा जरूरत है.

एक अन्य ट्वीट में शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा- बिहार, अब तक की सबसे बुरी पीड़ा से गुजर रहा है. एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम के कारण 130 से अधिक बच्चों की मौत हो गई, वहीं ढाई सौ से अधिक लोग लू का शिकार हैं. ये दोनों घटनाएं राज्य की सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं की पूर्ण असफलता दर्शाती हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay