एडवांस्ड सर्च

नीतीश ने इस वजह से उत्तर प्रदेश चुनाव नहीं लड़ने का लिया फैसला

पार्टी का दावा है कि वह उत्तर प्रदेश चुनाव में हिस्सा इसीलिए नहीं ले रही है क्योंकि वह नहीं चाहती है कि चुनावों में धर्मनिरपेक्ष वोटों का बंटवारा हो. जदयू इस बात को लेकर भी काफी निराश है कि समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने आपस में गठबंधन कर लिया और जनता दल यूनाइटेड को इससे अलग रखा.

Advertisement
aajtak.in
रोहित कुमार सिंह पटना, 26 January 2017
नीतीश ने इस वजह से उत्तर प्रदेश चुनाव नहीं लड़ने का लिया फैसला जेडीयू एक साल से यूपी में कर रही है प्रचार

जनता दल यूनाइटेड ने ऐलान कर दिया है कि वह उत्तर प्रदेश में विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ेगी. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में जनता दल यूनाइटेड की कोर कमेटी की बैठक में यह फैसला लिया गया है.

पार्टी का दावा है कि वह उत्तर प्रदेश चुनाव में हिस्सा इसीलिए नहीं ले रही है क्योंकि वह नहीं चाहती है कि चुनावों में धर्मनिरपेक्ष वोटों का बंटवारा हो. जदयू इस बात को लेकर भी काफी निराश है कि समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने आपस में गठबंधन कर लिया और जनता दल यूनाइटेड को इससे अलग रखा.

मगर नीतीश कुमार के बेहद करीबी और जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने नीतीश के उत्तर प्रदेश में चुनाव नहीं लड़ने के फैसले से पर्दा उठा दिया है.

ललन सिंह की मानें तो नीतीश कुमार भले ही उत्तर प्रदेश में पिछले एक साल से प्रचार-प्रसार और पार्टी का विस्तार करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन इसका उन्हें कुछ भी फायदा नहीं मिला है. इस वजह से नीतीश कुमार ने उत्तर प्रदेश चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है. ललन सिंह ने यह भी कहा कि नीतीश कुमार उत्तर प्रदेश चुनाव में अखिलेश यादव या कांग्रेस पार्टी का प्रचार करने भी नहीं जाएंगे.

उन्होंने कहा, 'हम उस लायक ही नहीं है कि हम वहां कोई सीट लड़ सकें. हमारे मांगने से वोट कहां मिलने वाला है? नीतीश कुमार के मांगने से भी वोट कहां मिलने वाला है?'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay