एडवांस्ड सर्च

पासवान की कॉन्फ्रेंस में दिखा मोदी की अपील का असर, हटी प्लास्टिक की बोतलें

प्रधानमंत्री मोदी ने सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक लगाने को लेकर जो ऐलान किया, उसका असर केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी दिखा.

Advertisement
aajtak.in
रोहित कुमार सिंह पटना, 11 September 2019
पासवान की कॉन्फ्रेंस में दिखा मोदी की अपील का असर, हटी प्लास्टिक की बोतलें पासवान की प्रेस कॉन्फ्रेंस से हटीं प्लास्टिक की बोतलें

  • मोदी की अपील के बाद पासवान ने प्लास्टिक को कहा ना
  • प्लास्टिक की पानी की बोतलें कार्टून में ही रखी रह गईं

नरेंद्र मोदी सरकार के 100 दिन पूरे होने के मौके पर केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने बुधवार को पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. आमतौर पर सरकारी प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्लास्टिक की बोतल में लोगों को पानी पिलाया जाता है मगर रामविलास पासवान ने आते ही घोषणा कर दी थी कि लोगों को इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्लास्टिक बोतल में पानी नहीं दिया जाए. इसके बाद प्लास्टिक की पानी की बोतलें कार्टून में ही रखी रह गईं.

पासवान के इस ऐलान के बाद सभी लोगों को गिलास में पानी पिलाना शुरू किया गया. जिस मंच पर रामविलास पासवान प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे वहां भी उनके सामने गिलास में ही पानी दिया गया. गौरतलब है आज प्रधानमंत्री मोदी ने सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक लगाने को लेकर जो ऐलान किया उसका असर केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी दिखा.

इसी दौरान आज तक से एक्सक्लूसिव बातचीत करते हुए रामविलास पासवान ने कहा कि प्रधानमंत्री ने प्लास्टिक के इस्तेमाल को लेकर जो बात कही है, उसे मंत्रालय पूरी तरीके से लागू करेगा. पासवान ने इस बात पर भी जोर दिया कि सिंगल यूज़ प्लास्टिक प्रकृति के लिए काफी खतरनाक होता है और इसका इस्तेमाल रोका जाना चाहिए.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को मथुरा में कहा कि प्लास्टिक पशुओं की मौत का कारण बन रहा है. पीएम ने कहा कि प्लास्टिक से होने वाली समस्या समय के साथ गंभीर होती जा रही है. प्लास्टिक पशुओं की मौत का कारण बन रहा है. इसी तरह नदियां, तालाबों में रहने वाले प्राणियों का, उसमें रहने वाली मछलियों का प्लास्टिक को निगलने के बाद जिन्दा बचना मुश्किल हो जाता है.

उन्होंने कहा कि अब हमें सिंगल यूज प्लास्टिक से छुटकारा पाना ही होगा. हमें कोशिश करनी है कि दो अक्टूबर तक अपने दफ्तरों, घरों को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त करें. मैं गांव गांव में काम कर रहे सभी संगठनों, सरकारी स्कूलों, कार्यालयों और लोगों से इस अभियान से जुड़ने का आग्रह करता हूं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि प्लास्टिक का जो कचरा इकट्ठा होगा, उसको उठाने का काम प्रशासन करेगा और उसे रिसाइकल किया जायेगा. जो कचरा रिसाइकल नहीं किया जा सकेगा उसे सड़क बनाने में इस्तेमाल किया जाएगा. इस तरह का काम गांव गांव में किये जाने की जरूरत है.

मोदी ने कहा कि ‘स्वच्छता ही सेवा अभियान’ के साथ ही कुछ परिवर्तन हमें अपनी आदतों में भी करना होगा. हमें चाहिए कि हम जब भी बाहर जाएं तो हम अपने साथ एक थैला लेकर जाएं ताकि प्लास्टिक बैग की जरूरत न पड़ें. यहां तक कि मैं इस बात के भी पक्ष में हूं कि जब भी कोई सरकारी कार्यक्रम हो तो उसमें प्लास्टिक का इस्तेमाल न हो. मिट्टी और धातु के बर्तनों का इस्तेमाल होना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay