एडवांस्ड सर्च

पटना: रावण दहन कार्यक्रम में नीतीश ने की शिरकत, गायब रहे बीजेपी नेता

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, कांग्रेस नेता मदन मोहन झा और बिहार विधानसभा के स्पीकर विजय कुमार चौधरी पहुंचे. गांधी मैदान में पिछले 63 वर्षों से रावण दहन का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है.

Advertisement
aajtak.in
सुजीत झा पटना, 08 October 2019
पटना: रावण दहन कार्यक्रम में नीतीश ने की शिरकत, गायब रहे बीजेपी नेता गांधी मैदान में रावण दहन से पूर्व भगवान राम की पूजा करते नीतीश कुमार (PTI)

  • नीतीश कुमार के साथ कांग्रेस नेता मदन मोहन झा भी हुए शामिल
  • रावण दहन कार्यक्रम में नहीं आए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी

बिहार की राजधानी पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में मंगलवार को रावण दहन कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का कोई भी नेता शामिल नहीं हुआ. इस कार्यक्रम में राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, कांग्रेस नेता मदन मोहन झा और बिहार विधानसभा के स्पीकर विजय कुमार चौधरी शामिल हुए.गांधी मैदान में 63 वर्षों से रावण दहन का कार्यक्रम हो रहा है, जिसे देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग जुटते हैं.

बीजेपी-जेडीयू में मतभेद?

गांधी मैदान में रावण दहन के साथ कुंभकर्ण और मेघनाद का भी दहन किया गया. इससे पहले गांधी मैदान में रामलीला की गई. रावण वध से पहले मुख्यमंत्री ने श्रीराम और सीता का पूजन किया. इस कार्यक्रम में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी भी शामिल नहीं हुए. हालांकि सुशील मोदी पटना में नहीं थे और मंगलवार देर रात वे पटना लौटे. बता दें, पटना में भीषण बाढ़ को लेकर नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) और बीजेपी के बीच मतभेद गहरा गए हैं. दोनों पार्टियों की ओर से विरोधी बयान दिए जा रहे हैं.

गिरिराज सिंह का हमला

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह भारी बारिश के कारण पटना में हुए जलजमाव के लिए नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं. उन्होंने कहा, भारी बारिश के बाद पटना में जो कुछ हुआ, उसके जिम्मेदार नीतीश कुमार और सुशील मोदी हैं. साथ ही राज्य सरकार के अधिकारियों पर हमला करते हुए उन्होंने कहा, सरकार को दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए. अगर आईएमडी और मौसम विभाग कार्यालय की ओर से पहले ही भारी बारिश की चेतावनी दी गई थी, तो अधिकारियों ने एहतिहात उपाय क्यों नहीं किए थे.

नीतीश कुमार का जवाब

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी कुछ दिन पहले बीजेपी को निशाने पर लिया था. जदयू राज्य परिषद की बैठक को संबोधित करते हुए बीजेपी के बड़बोले नेताओं पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि इन नेताओं को बयानबाजी करके गठबंधन को कमजोर नहीं करना चाहिए. हालांकि, नीतीश कुमार ने कहा कि एनडीए पूरी तरीके से एकजुट है और जो भी खटपट करेगा वह 2020 के विधानसभा चुनाव के बाद कहीं का नहीं रहेगा.

अपने संबोधन के दौरान नीतीश कुमार ने किसी भी बीजेपी नेता का नाम नहीं लिया लेकिन उनकी नाराजगी बीजेपी के फायर ब्रांड नेता व केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और प्रदेश अध्यक्ष संजय पासवान के लिए साफ दिखी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay