एडवांस्ड सर्च

गलत तरीके से वेतन भुगतान के मामले में शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव पर मुकदमा दर्ज

मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट ने शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव आर.के.महाजन सहित दो दर्जन से अधिक अधिकारियों पर आईपीसी की धारा 409,465,468,471,120बी और धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज करने का आदेश नगर थाना को दिया है.

Advertisement
aajtak.in
सुजीत झा पटना, 30 November 2016
गलत तरीके से वेतन भुगतान के मामले में शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव पर मुकदमा दर्ज शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव के खिलाफ मुकदमा दर्ज का आदेश

मुजफ्फरपुर कोर्ट ने फर्जी शिक्षकों को गलत तरीके से वेतन भुगतान करने के मामले में शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव पर नगर थाना में मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है. फर्जी टीईटी शिक्षकों को गलत तरीकों से करोड़ों रुपयों के वेतन भुगतान करने के मामले को मुजफ्फरपुर कोर्ट ने गंभीरता पूर्वक लेते हुए यह फैसला सुनाया है.

मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट ने शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव आर.के.महाजन सहित दो दर्जन से अधिक अधिकारियों पर आईपीसी की धारा 409,465,468,471,120बी और धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज करने का आदेश नगर थाना को दिया है.

गलित तरीके से भुगतान का है मामला

मुजफ्फरपुर जिले के विभिन्न प्रखंड़ों में जांच के दौरान पाया गया कि 335 टीईटी शिक्षकों की फर्जी तरीके से नियुक्ति की गयी. इसके बाबजूद शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मिली भगत से सीडी मिलान किये बिना फर्जी शिक्षकों विभाग द्वारा वेतन का भुगतान कर दिया गया. फर्जी टीईटी शिक्षकों को गलत तरीके से वेतन भुगतान करने के बाबत पंकज कुमार अधिवक्ता ने मुजफ्फरपुर व्यवहार न्यायालय में परिवाद पत्र दायर किया था. इसी मामले पर सुनवाई करते हुए मुजफ्फरपुर व्यवहार न्यायालय के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया.

इन सबके बीच मुजफ्फरपुर के जिलाधिकारी ने भी फर्जी शिक्षकों को गलत तरीके से वेतन भुगतान किए जाने के मामले को लेकर इसकी संज्ञान मांगा है. जानकारी के अनुसार पारु में 9, बोचहां में 35, सकरा में 6, मोतीपुर में 9, सरैया में 22, कांटी में 6, गायघाट में 26, मुशहरी में 16, मीनापुर में 145 और बंदरा में 61 फर्जी टीईटी शिक्षकों की पहचान की गयी थी. जबकि औराई, मुरौल, कटरा, मड़वन, कुढ़नी साहेबगंज और नगर थाना क्षेत्र के शिक्षा अधिकारी ने अभी तक रिपोर्ट नहीं सौंपी है.

जिलाधिकारी ने डीपीओ से इस मामले में विस्तृत जानकारी की मांग की है ताकि आगे की कार्रवाई की जा सके.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay