एडवांस्ड सर्च

आर्थिक जालसाजी का आरोप लगाने के बाद अब JDU का तेजस्वी पर पोस्टर के जरिए हमला

हाईटेक बस को लेकर उठे विवाद को लेकर जेडीयू ने एक पोस्टर जारी किया है. पोस्टर में दर्शाया गया है कि किस तरीके से तेजस्वी यादव ने अति पिछड़ा समाज से आने वाले एक व्यक्ति के साथ आर्थिक जालसाजी की.

Advertisement
aajtak.in
रोहित कुमार सिंह पटना, 17 February 2020
आर्थिक जालसाजी का आरोप लगाने के बाद अब JDU का तेजस्वी पर पोस्टर के जरिए हमला पोस्टर के जरिए JDU का तेजस्वी पर हमला

  • तेजस्वी यादव की बेरोजगारी हटाओ यात्रा विवादों में
  • JDU का पोस्टर के जरिए तेजस्वी पर हमला

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव के 23 फरवरी से शुरू होने वाली बेरोजगारी हटाओ यात्रा में इस्तेमाल किए जाने वाले हाईटेक बस पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. बिहार सरकार में जनसंपर्क विभाग के मंत्री नीरज कुमार ने पहले इस बस को लेकर तेजस्वी यादव के ऊपर आर्थिक जालसाजी का आरोप लगाया और अब पोस्टर के जरिए जेडीयू ने इस मुद्दे को और हवा दे दी है.

हाईटेक बस को लेकर उठे विवाद को लेकर जेडीयू ने एक पोस्टर जारी किया है जिसमें दर्शाया गया है कि किस तरीके से तेजस्वी ने अति पिछड़ा समाज से आने वाले एक व्यक्ति के साथ आर्थिक जालसाजी की.

जेडीयू के द्वारा जारी किए गए इस पोस्टर का पंच लाइन है “सामाजिक न्याय के ढोंगी ने किया अति पिछड़ा के साथ आर्थिक जालसाजी”.

jdu_021720020807.png

पोस्टर में दिखाया गया है कि किस तरीके से तेजस्वी यादव अपने पिता और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के साथ इस विवादित हाईटेक बस पर सवार हैं और एक अत्यंत पिछड़ा वर्ग से आने वाले व्यक्ति का शिकार करने निकले हुए हैं.

इस पोस्टर में लिखा गया है कि तेजस्वी यादव ने जो अत्यंत पिछड़ा समाज के एक व्यक्ति के साथ जो आर्थिक शोषण किया है वह एक अदृश्य अपराध है.

ये भी पढ़ें- तेजस्वी के नाम पर महागठबंधन में बवाल, तीन पार्टियां बोलीं- शरद यादव को बनाएं CM चेहरा

दरअसल, तेजस्वी के यात्रा में इस्तेमाल किए जाने वाले इस हाईटेक बस को लेकर विवाद इसलिए खड़ा हुआ क्योंकि मंत्री नीरज कुमार ने दस्तावेजों के जरिए यह खुलासा किया कि आरजेडी के पूर्व विधायक अनिरुद्ध यादव ने आगामी राज्यसभा या विधान परिषद चुनाव में टिकट प्राप्त करने के लिए डील के तहत तेजस्वी के लिए इस बस को खरीद कर उन्हें गिफ्ट किया.

ये भी पढ़ें- तेजस्वी की बस को लेकर विवाद, JDU का आरोप- टिकट देने के बदले मिला गिफ्ट

नीरज कुमार ने दस्तावेजों के जरिए यह भी खुलासा किया कि अनिरुद्ध यादव के द्वारा खरीदी गई बस उनके एक कर्मचारी मंगल पाल के नाम पर पंजीकृत है जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर करता है और जिसका नाम बीपीएल सूची में है. हालांकि, तेजस्वी यादव ने इन सभी आरोपों को खारिज किया है और कहा है कि उन्होंने यह बस किराए पर ली है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay