एडवांस्ड सर्च

चारा घोटाला: जमानत के लिए लालू प्रसाद यादव ने दाखिल की याचिका

चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने जमानत के लिए झारखंड हाई कोर्ट में गुरुवार को याचिका दाखिल की है. वहीं शुक्रवार को जमानत याचिका पर जल्द सुनवाई के लिए आग्रह किया जाएगा. लालू यादव ने देवघर कोषागार से अवैध निकासी मामले में झारखंड हाई कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: हिमांशु कोठारी]पटना, 13 June 2019
चारा घोटाला: जमानत के लिए लालू प्रसाद यादव ने दाखिल की याचिका बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने जमानत के लिए झारखंड हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की है. वहीं शुक्रवार को जमानत याचिका पर जल्द सुनवाई के लिए आग्रह किया जाएगा.

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने देवघर कोषागार से अवैध निकासी मामले में झारखंड हाई कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है. गुरुवार को ये याचिक दाखिल की गई है. वहीं अब इस याचिका पर जल्दी सुनवाई किए जाने को लेकर भी शुक्रवार को कदम उठाए जाएंगे.

वहीं हाल ही में लालू प्रसाद की अनुपस्थिति में कार्यकर्ताओं ने 11 जून को उनका 72वां जन्मदिन धूमधाम से मनाया. इस मौके पर पटना स्थित राजद प्रदेश कार्यालय में कार्यकर्ताओं ने 72 पाउंड का केक काटा. हालांकि लालू के जन्मदिन पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर सन्नाटा पसरा रहा. राबड़ी देवी ने पति लालू प्रसाद को जन्मदिन की बधाई और शुभकामनएं दी. राबड़ी देवी ने ट्वीट किया, 'प्राणप्रिय आदरणीय लालू प्रसाद जी को 72वें अवतरण दिवस की अनंत बधाईयां. आपको हमारी भी उम्र लग जाए.'

बता दें कि लालू प्रसाद यादव इन दिनों चारा घोटाले के मामले में झारखंड की जेल में सजा काट रहे हैं. फिलहाल लालू स्वास्थ्य कारणों से रांची के रिम्स में भर्ती हैं. वहीं 29 मई को रांची के एक स्पेशल कोर्ट ने करोड़ों रुपए के चारा घोटाला मामले में 16 आरोपियों को दोषी ठहराया और उन्हें तीन से चार सालों की सजा सुनाई. सरकारी वकील के मुताबिक, एसएन मिश्रा की विशेष सीबीआई अदालत ने चाईबासा ट्रेजरी से फर्जीवाड़ा करके 37 करोड़ रुपए निकालने के मामले में 16 लोगों को दोषी ठहराया. अदालत ने इनमें से 11 लोगों को तीन साल और पांच अन्य को चार साल की सजा सुनाई.

सीबीआई की विशेष अदालत ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्रियों लालू प्रसाद यादव और जगन्नाथ मिश्रा को इसी मामले में 2013 में दोषी ठहराया था. सीबीआई ने बाद में 16 अन्य के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था. इनमें से 14 चारे की सप्लाई करते थे और दो सरकारी अधिकारी थे. सीबीआई की अदालत ने चारा घोटाले से जुड़े 42 मामलों में अपना फैसला सुनाया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay