एडवांस्ड सर्च

सजायाफ्ता लालू से गले मिलने वालों को गिरिराज पर सवाल उठाने का हक नहीं: BJP

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के दंगा भड़काने के आरोपियों से जेल में मुलाकात को बीजेपी गलत नहीं मान रही है. वो उल्टा सवाल कर रही है. मामले को लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने सवाल किया कि चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव को गले लगाने वालों को इस मुलाकात पर सवाल उठाने का क्या हक हैं?

Advertisement
aajtak.in
राम कृष्ण/ सुजीत झा पटना, 09 July 2018
सजायाफ्ता लालू से गले मिलने वालों को गिरिराज पर सवाल उठाने का हक नहीं: BJP बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के दंगा भड़काने के आरोपियों से जेल में मुलाकात को बीजेपी गलत नहीं मान रही है. वो उल्टा सवाल कर रही है. मामले को लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने सवाल किया कि चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव को गले लगाने वालों को इस मुलाकात पर सवाल उठाने का क्या हक हैं?

आरजेडी पर निशाना साधते हुए पात्रा ने कहा कि लालू जब जेल में थे, तो उनसे मिलने जाने वालों से क्यों नहीं सवाल पूछा गया? बेहद संगीन मामलों में सजायाफ्ता शहाबुद्दीन से मिलने जब बिहार सरकार के मंत्री जा रहे थे, तो उनसे सवाल क्यों नहीं पूछा गया? शहाबुद्दीन जब जेल से छूटकर बाहर आया, तो उसके स्वागत में जुलूस निकाला गया, उसमें कई नेता शामिल थे. तब क्यों नहीं सवाल उठाया गया?

बता दें कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह 12 जुलाई को पटना आने वाले है. उनके दौरे से पहले माहौल बनाने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा सोमवार को पटना में थे. यहां मीडिया से बात करते हुए पात्रा ने साफ कर दिया कि पार्टी गिरिराज सिंह के साथ खड़ी है. जो कोई गिरिराज सिंह पर सवाल उठा रहा है, वो आईना देख ले.

बीजेपी का कहना है कि केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने नवादा जेल में अपने समर्थकों से मिलकर कोई गुनाह नहीं किया है. जब मामले में उनसे प्रतिक्रिया मांग गई, तो संबित पात्रा ने गिरिराज सिंह का बचाव करते हुए कहा कि लोकतंत्र में कौन किससे मिलता है, इस पर भला क्या प्रतिक्रिया दी जा सकती है?

मालूम हो कि नवादा में दंगा के आरोप में जेल भेजे गए बजरंग दल और विश्व हिन्दू परिषद के नेताओं से गिरिराज सिंह ने जेल जाकर मुलाकात की थी. गिरिराज सिंह ने आरोप लगाया था कि प्रशासन एक तरफा कार्रवाई कर रही है. इस पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अगर किसी को कार्रवाई को लेकर ऐतराज है, तो वो कोर्ट जा सकता है, लेकिन पुलिस की कार्रवाई पर उंगली नहीं उठाई जा सकती है. उन्होंने केन्द्रीय मंत्री के जेल में आरोपियों से मिलने पर भी आपत्ति जताई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay