एडवांस्ड सर्च

नीतीश को CM बनाने पर था सस्पेंस, मुलायम से कराई नाम की घोषणा: लालू

लालू ने कहा कि नीतीश बीजेपी में नहीं भागे इसलिए दही का टीका लगाता था और नीतीश बहुत प्यार से टीका लगावाते थे, लेकिन अब उनका यहां कोई चांस बचा नहीं है. लालू ने कहा कि बीजपी और नीतीश मिलकर उनके परिवार के खिलाफ चाहे जितनी साजिश कर लें, लेकिन इससे परिवार खत्म होने वाला नहीं है.

Advertisement
aajtak.in
सुजीत झा पटना, 06 November 2017
नीतीश को CM बनाने पर था सस्पेंस, मुलायम से कराई नाम की घोषणा: लालू पटना में RJD राज्य कार्यकारिणी की बैठक

बिहार में आरजेडी-जेडीयू और कांग्रेस गठबंधन की सरकार को लेकर आरजेडी सुप्रीम लालू प्रसाद यादव ने खुलासा किया है. लालू यादव ने कहा कि नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाने को लेकर वह असमंजस में थे और इसीलिए उन्होंने मुलायम सिंह यादव से नीतीश के नाम की घोषणा कराई थी, क्योंकि बीजेपी को बिहार में रोकना था.

इससे पहले पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश सिंह ने कहा कि उन्होंने कभी नीतीश कुमार को अपना नेता नहीं माना लेकिन लालू प्रसाद यादव ही उन्हें दही का तिलक लगाते थे. पटना में आयोजित आरजेडी राज्य कार्यकारणी की बैठक में नीतीश कुमार पर जमकर तीर चले. आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव कहा कि नीतीश कुमार ने अपना सिद्धांत बेच दिया, उनकी छवि खत्म हो गई अब वो बीजेपी के कैद में हैं.

लालू ने कहा कि नीतीश बीजेपी में नहीं भागे इसलिए दही का टीका लगाता था और नीतीश बहुत प्यार से टीका लगावाते थे, लेकिन अब उनका यहां कोई चांस बचा नहीं है. लालू ने कहा कि बीजपी और नीतीश मिलकर उनके परिवार के खिलाफ चाहे जितनी साजिश कर लें, लेकिन इससे परिवार खत्म होने वाला नहीं है.

लालू ने एक बार फिर नीतीश कुमार के शासन के भ्रष्टाचार पर प्रहार करते हुए कहा कि शौचालय घोटला अरबों का घोटाला है. सारा पैसा आरसीपी सिंह के पास आता है. लालू ने आरोप लगाया कि नीतीश अपने प्रवक्ताओं से गाली दिलवाते हैं. इस मौके पर लालू ने 'नीतीश-भाजपा हटाओ और सारे घोटाले की जांच कराओ' का नारा भी दिया. लालू यादव ने ऐलान किया कि वो पटना के गांधी मैदान में जल्दी ही परिवर्तन रैली करेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay