एडवांस्ड सर्च

हेमकुंड साहिब: बर्फबारी ने तोड़ा एक दशक का रिकॉर्ड

सिखों के प्रसिद्ध तीर्थ स्थान हेमकुंड साहिब की यात्रा भारी बर्फबारी से बुरी तरह प्रभावित हुई है. यहां चारों तरफ बर्फ की सफेद चादर फैली है. श्रद्धालुओं को कई फीट बर्फ से होकर गुजरना पड़ रहा है. इस बार बर्फबारी ने पिछले एक दशक का रिकार्ड तोड़ दिया है. 

Advertisement
aajtak.in
दिलीप सिंह [Edited By: मुकेश कुमार]चमोली, 05 June 2015
हेमकुंड साहिब: बर्फबारी ने तोड़ा एक दशक का रिकॉर्ड हेमकुंड साहिब की फाइल फोटो

सिखों के प्रसिद्ध तीर्थ स्थान हेमकुंड साहिब की यात्रा भारी बर्फबारी से बुरी तरह प्रभावित हुई है. यहां चारों तरफ बर्फ की सफेद चादर फैली है. श्रद्धालुओं को कई फीट बर्फ से होकर गुजरना पड़ रहा है. इस बार बर्फबारी ने पिछले एक दशक का रिकार्ड तोड़ दिया है.  

लुधियाना के सतनाम सिंह ने बताया कि भारी बर्फबारी की वजह से लोगों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है. सेना की कुमायूं रेजिमेंट और स्काउट गाइड की टीम मैनेजमेंट कमेटी के साथ मिलकर 25 अप्रैल से बर्फ हटाने में जुटी है, लेकिन अभी तक सफलता नहीं मिली है.

अम्बाला के हरप्रीत सिंह के मुताबिक, कपाट खुलने के बाद से लगातार बर्फबा री हो रही है, लेकिन श्रद्धालुओं का रास्ता रोक नहीं पाई है. सभी लोग इसे गुरू का प्रसाद मानकर यात्रा और सेवा में तल्लीन हैं.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत के मुताबिक, बर्फबारी के चलते हेमकुंड साहिब में लोगो का सांस तक लेना मुश्किल हो गया है. सरकार की ओर से पर्याप्त चिकित्सा व्यवस्था की गई है. हालात बेकाबू हैं. हेमकुंड साहिब आने वाले रास्तों पर पड़ी बर्फ को साफ कराने पर पूरा जोर है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay