एडवांस्ड सर्च

JNU में देशविरोधी नारे लगाने वालों को जेल भेजेगी मोदी सरकार: अमित शाह

बिहार के वैशाली में अमित शाह ने कहा कि जेएनयू में भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगते हैं, क्या ऐसे नारे लगाने वालों को जेल नहीं भेजा जाना चाहिए? उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ऐसे देशविरोधी नारों को किसी भी रूप में स्वीकार नहीं करेगी और जो लोग भी इसमें शामिल होंगे, उन्हें जेल भेजा जाएगा.

Advertisement
aajtak.in
रोहित कुमार सिंह वैशाली, 16 January 2020
JNU में देशविरोधी नारे लगाने वालों को जेल भेजेगी मोदी सरकार: अमित शाह गृह मंत्री अमित शाह (PTI फोटो)

  • CAA के समर्थन में अमित शाह की रैली
  • नीतीश के नेतृत्व में चुनाव लड़ने का ऐलान
  • 'देशविरोधी नारे लगाने वाले जाएंगे जेल'

बिहार के वैशाली में जनसभा को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए है लेकिन इसके खिलाफ वोटबैंक की राजनीति वजह से अभियान चलाया जा रहा है. राजनीतिक उल्लू सीधा करने के लिए विपक्षी दल लोगों को CAA के खिलाफ गुमराह कर रहे हैं.

जनता को गुमराह ना करे विपक्ष

अमित शाह ने कहा कि मैं राहुल बाबा और लालू प्रसाद को बताने आया हूं कि इस कानून के अंदर किसी की नागरिकता लेने का नहीं बल्कि नागरिकता देने का प्रावधान है. उन्होंने कहा कि मैं आज बिहार के मुस्लिम भाइयों को बताने आया हूं कि इस कानून से किसी की भी नागरिकता नहीं जाने वाली है. शाह ने कहा कि ममता दीदी, केजरीवालजी को जनता को गुमराह करना बंद करना चाहिए.

ये भी पढ़ें: बिहार की रैली में अमित शाह का ऐलान- नीतीश के नेतृत्व में ही लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

देशविरोधी नारों पर होगी जेल

अमित शाह ने कहा कि जेएनयू में भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगते हैं, क्या ऐसे नारे लगाने वालों को जेल नहीं भेजा जाना चाहिए? उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ऐसे देशविरोधी नारों को किसी भी रूप में स्वीकार नहीं करेगी और जो लोग भी इसमें शामिल होंगे, उन्हें जेल भेजा जाएगा.

अमित शाह बिहार के वैशाली में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में रैली करने पहुंचे थे. यहां उन्होंने साफ कर दिया कि बिहार का चुनाव नीतीश कुमार की अगुवाई में ही लड़ा जाएगा और जेडीयू भी एनडीए का हिस्सा रहेगी. हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी के कई नेता इससे पहले ही बिहार में जेडीयू को बीजेपी का बड़ा भाई बता चुके हैं. बीते माह हुए झारखंड चुनाव में भी नीतीश की पार्टी जेडीयू ने एडीए से अलग होकर अकेले चुनाव लड़ा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay