एडवांस्ड सर्च

वनडे ‘दानव’ रोहित शर्मा के 10 का दम

वर्तमान क्रिकेटर्स में सबसे अधिक टैलेंटेल बल्लेबाज रोहित शर्मा ने पर्थ के बाद ब्रिसबेन वनडे में एक बार फिर शतक लगाने का नायाब कारनामा किया है. यह वनडे ‘दानव’ पिछले तीन सालों से जैसा खेल रहा है उससे आने वाले दिनों में बहुत से रिकॉर्ड के टूटने की संभावना है. चलिए जानते हैं इस 10वें शतक की 10 खास बातें.

Advertisement
aajtak.in
अभिजीत श्रीवास्तव नई दिल्ली, 15 January 2016
वनडे ‘दानव’ रोहित शर्मा के 10 का दम एकदिवसीय का 10वां शतक लगाने के बाद रोहित शर्मा खुशी में उछल पड़े

क्रिकेट के जानकार रोहित शर्मा को वर्तमान क्रिकेटर्स में सबसे अधिक टैलेंटेल बल्लेबाज मानते हैं और ऑस्ट्रेलियाई धरती पर उन्होंने लगातार दो वनडे मैच में दो शतक लगा कर यह एक बार फिर साबित भी किया. ये रोहित ही हैं जिनके नाम पर वनडे में दो दोहरे शतक के साथ ही सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर बनाने वाला बल्लेबाज होने का रिकॉर्ड भी दर्ज है.

2013 से पहले रोहित शर्मा की अस्थिर फॉर्म लगातार उनके फैन्स को निराश करती थी वहीं जबसे धोनी ने उन्हें बतौर ओपनर उतारा है उनके प्रदर्शन में पूरी तरह से बदलाव आ गया है. इस दौरान रोहित का स्ट्राइक रेट 78 से 89 हो गया है. हालांकि बतौर ओपनर उन्हें पहला शतक लगाने में 18 पारियों का इंतजार करना पड़ा लेकिन इस बदलाव के बाद से अगली 41 पारियों में वो आठ शतक लगाने में कामयाब रहे हैं. इनमें से छह शतक तो पिछली 21 पारियों में लगे हैं.

शुरुआती दौर में ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंद को बिना फुटवर्क के पुश करने की वजह से रोहित की तकनीक को लेकर संदेह था. विशेषज्ञ विदेशी पिचों पर उनसे पारी शुरू करवाने को लेकर सशंकित थे. लेकिन आज ओपनर रोहित शर्मा के रिकॉर्ड कुछ अलग ही बयां कर रहे हैं.

रोहित का 10वां शतक और 10 बातें
1. रोहित शर्मा 50 से अधिक पारियों में बतौर सलामी बल्लेबाज उतरे दुनिया भर के बल्लेबाजों औसत के मामले में टॉप पर पहुंच गए हैं. यह रिकॉर्ड उन्होंने ब्रिसबेन वनडे में ही बनाया. अपनी 124 रनों की पारी के दौरान उन्होंने हाशिम अमला के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ते हुए औसत के मामले में नंबर-1 ओपनर बन गए हैं. पिछली 60 पारियों में रोहित ने 53.61 की औसत से 2895 रन बनाए हैं.

2. यह ऑस्ट्रेलिया में रोहित शर्मा का चौथा शतक था. अब वो ऑस्ट्रेलिया में सबसे अधिक शतक लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज हैं. उन्होंने वीवीएस लक्ष्मण के तीन शतकों के रिकॉर्ड को तोड़ा है.

3. सचिन तेंदुलकर और ब्रायन लारा के बाद रोहित शर्मा ऐसे केवल तीसरे बल्लेबाज हैं जिन्होंने पहली 20 पारियों में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1000 रन से अधिक स्कोर किया है.

4. रोहित ऐसे केवल तीसरे क्रिकेटर हैं जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनकी ही सरजमीं पर लगातार दो मैच में शतक लगाए. रोहित से पहले यह कारनामा ग्रीम हिक और वीवीएस लक्ष्मण कर चुके हैं.

5. यह रोहित शर्मा का 10वां वनडे शतक है. वो 10 शतक लगाने वाले वनडे क्रिकेट के 40वें बल्लेबाज हैं.

6. रोहित ने अपने कप्तान धोनी को शतकों के मामले में पीछे छोड़ दिया है. 10 शतकों के साथ अब वो इंग्लैंड के ग्रीम स्मिथ, पाकिस्तान के इजाज अहमद, ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडेन, न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल और पाकिस्तान के इंजमाम उल हक के क्लब में शामिल हो गए हैं.

7. रोहित शर्मा के 10 शतकों में से सात मौके पर टीम इंडिया ने 300 से अधिक के स्कोर किए हैं.

8. रोहित के अंतिम छह शतकीय पारी इस प्रकार रही है: 124, 171, 150, 137, 138 और 264. वनडे में उन्होंने बड़ी पारी खेलने का एक फॉर्मूला अपना लिया लगता है. 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी के बाद से रोहित ने खेली गई 56 पारियों में आठ शतक और 14 अर्धशतक जड़े हैं. इन 56 पारियों में 22 बार वो पचास या इससे अधिक रन बनाने में कामयाब रहे हैं. यानी लगभग चालीस फीसदी (39.29 फीसदी) पारियों में वो शतक या अर्धशतक लगा रहे हैं जो बहुत ही शानदार उपलब्धि है.

9. यह गाबा यानी ब्रिसबेन की पिच पर किसी भी भारतीय बल्लेबाज का सर्वाधिक स्कोर है. इतना ही नहीं, यहां पहली बार किसी भारतीय बल्लेबाज ने शतक जड़ा है. रोहित ने सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ा जिन्होंने यहां 91 और 86 रन की पारियां खेल रखी हैं.

10. गाबा पर 124 रनों की पारी के दौरान रोहित ने दो शतकीय साझेदारी भी निभाई. उन्होंने दूसरे विकेट के लिए विराट कोहली के साथ 125 रन जबकि तीसरे विकेट लिए रहाणे के साथ 121 रनों की साझेदारी की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay