एडवांस्ड सर्च

फ्रेंच ओपनः चेक गणराज्य की लूसी सफारोवा फाइनल में

चेक गणराज्य की लूसी सफारोवा ने फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के महिला एकल सेमीफाइनल में पूर्व चैम्पियन सर्बिया की अना इवानोविच को सीधे सेटों में हराकर पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited by: नंदलाल शर्मा]पेरिस, 05 June 2015
फ्रेंच ओपनः चेक गणराज्य की लूसी सफारोवा फाइनल में lucie safarova

चेक गणराज्य की लूसी सफारोवा ने फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के महिला एकल सेमीफाइनल में पूर्व चैम्पियन सर्बिया की अना इवानोविच को सीधे सेटों में हराकर पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई.

चेक गणराज्य की 13वीं वरीय 28 वर्षीय सफारोवा ने सेमीफाइनल में 7-5, 7-5 से जीत दर्ज की. वह शनिवार को होने वाले फाइनल में अमेरिका की शीर्ष वरीय सेरेना विलियम्स और स्विट्जरलैंड की 23वीं वरीय टिमिया बासिंज्की के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल की विजेता से भिड़ेंगी.

वर्ष 1981 में हाना मांदलिकोवा के पेरिस में खिताब जीतने के बाद सफारोवा फ्रेंच ओपन के फाइनल में जगह बनाने वाली चेक गणराज्य की पहली महिला खिलाड़ी हैं. इससे पहले फ्रेंच ओपन में सफारोवा का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2007 और 2014 में प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाना था.

अपने तीसरे मैच प्वाइंट पर जीत दर्ज करने के बाद सफरोवा ने कहा, 'यह सपना सच होने की तरह है. मैं अब भी विश्वास नहीं कर पा रही हूं.' वर्ष 2008 में 20 साल की उम्र में रोलां गैरो पर चैम्पियन बनी इवानोविच को सेमीफाइनल के सफर के दौरान कड़ी टक्कर मिली थी, जबकि सफरोवा ने एक भी सेट नहीं गंवाया.

- इनपुट भाषा

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay