एडवांस्ड सर्च

मैं यहां मां के हाथ का खाना खाने आई हूं: दीपा कर्माकर

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला जिमनास्ट दीपा करमाकर शुक्रवार को अपने घर त्रिपुरा लौटीं तो उनके स्वागत के लिए अगरतला हवाईअड्डे पर हजारों प्रशंसक मौजूद थे.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: अभिजीत श्रीवास्तव]नई दिल्ली, 22 April 2016
मैं यहां मां के हाथ का खाना खाने आई हूं: दीपा कर्माकर दीपा कर्माकर

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला जिमनास्ट दीपा करमाकर शुक्रवार को अपने घर त्रिपुरा लौटीं तो उनके स्वागत के लिए अगरतला हवाईअड्डे पर हजारों प्रशंसक मौजूद थे.

दीपा कर्माकर और उनके कोच बिश्वेश्वर नंदी सुबह दिल्ली से यहां पहुंचे. राज्य के खेलों के निदेशक दुलाल दास और त्रिपुरा खेल परिषद के सचिव दिलीप चक्रवर्ती ने उनका अगरतला हवाईअड्डे पर स्वागत किया. रियो डि जनेरियो में व्यस्त कार्यक्रम और लंबी यात्रा के बाद दीपा एक हफ्ते के लिए अपने माता-पिता के साथ रहेंगी.

दीपा ने कहा, ‘अब मैं खुद को ओलंपिक खेलों में भाग लेने के लिए तैयार करूंगी और देश के लिए पदक लाने का भरसक प्रयत्न करूंगी. मैं यहां एक हफ्ते के लिए अपने माता पिता के साथ रहने आई हूं ताकि मैं अपनी मां के हाथ का बना खाना खा सकूं.’

वह काफी खुश दिख रही थी, उन्होंने कहा कि पूरे देश से उन्हें काफी सहयोग मिला है और उनके कोच का योगदान बेजोड़ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay