एडवांस्ड सर्च

लगातार चैनल बदलेंगे फैंस, 14 जुलाई को वर्ल्ड कप और विंबलडन का फाइनल

इंग्लैंड-न्यूजीलैंड का क्रिकेट वर्ल्ड कप फाइनल और विंबलडन फाइनल एक ही दिन खेला जाएगा, जिससे दुनियाभर के फैंस निराश होंगे. ऐसे में प्रशंसकों को अपने टीवी चैनल लगातार बदलने के लिए मजबूर होना पड़ेगा.

Advertisement
aajtak.in
तरुण वर्मा लंदन, 13 July 2019
लगातार चैनल बदलेंगे फैंस, 14 जुलाई को वर्ल्ड कप और विंबलडन का फाइनल Cricket World Cup final clashes with Wimbledon final

ठीक एक साल पहले दुनियाभर के खेल प्रशंसकों को एक अजीब परिस्थिति का सामना करना पड़ा था, जब एक ही दिन फुटबॉल वर्ल्ड कप का फाइनल और पुरुषों का विंबलडन फाइनल खेला गया. तब फैंस के सामने 15 जुलाई 2018 को फ्रांस और क्रोएशिया के बीच वर्ल्ड कप का फाइनल तथा नोवाक जोकोविच और केविन एंडरसन के बीच विंबलडन फाइनल में से किसी एक मैच को चुनने की दुविधा थी.

एक साल बाद 14 जुलाई 2019 को इंग्लैंड-न्यूजीलैंड का क्रिकेट वर्ल्ड कप फाइनल और विंबलडन पुरुष फाइनल एक ही दिन खेला जाएगा, जिससे दुनियाभर के फैंस निराश होंगे. ऐसे में प्रशंसकों को अपने टीवी चैनल लगातार बदलने के लिए मजबूर होना पड़ेगा. दरअसल, रविवार को भारतीय समयानुसार शाम 6.30 बजे से रोजर फेडरर और नोवाक जोकोविच के बीच विंबलडन का फाइनल खेला जाएगा. दूसरी तरफ फॉर्मूला-1 स्टार लुइस हेमिल्टन इस बात से नाखुश हैं कि आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप और विंबलडन फाइनल के दिन ही ब्रिटिश ग्रां प्री भी आयोजित की जा रही है.

हेमिल्टन ने कहा, 'मैं यह नहीं समझ पा रहा कि आयोजकों ने अन्य बड़े टूर्नामेंट के दिन ही रेस आयोजित कराने का फैसला क्यों किया.' बता दें कि इंग्लैंड ने 1992 के बाद पहली बार क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बनाई है जबकि रविवार को विंबलडन में पुरुषों के एकल वर्ग का फाइनल खेल जाएगा.

सेमीफाइनल में धोनी के रनआउट पर बोले गप्टिल, जहन में चल रही थी ये बात

हेमिल्टन ने कहा, 'मैं उम्मीद करता हूं कि वे भविष्य में ऐसा नहीं करेंगे. यह बहुत विशेष सप्ताह है और इसे पूरे देश का ध्यान चाहिए. लोग रविवार को चैनल बदलते रहेंगे और यह निर्णय नहीं ले पाएंगे कि उन्हें क्या देखना है.' पांच बार के वर्ल्ड चैम्पियन हेमिल्टन रिकॉर्ड छठी बार ब्रिटिश जीपी का खिताब जीतना चाहेंगे. वे अगर रविवार को जीत दर्ज करते हैं तो वे जिम क्लार्क और एलेन प्रोस्ट को पीछे छोड़ देंगे.

दुनियाभर के खेल संघों को कहीं न कहीं यह फैसला लेने की जरूरत है कि सभी निकाय एक दूसरे से स्वतंत्र हैं. खेल संघों को सोचना चाहिए कि विंबलडन एक वार्षिक टेनिस इवेंट है, जबकि वर्ल्ड कप 4 साल में एक बार आता है. अपने प्रशंसकों के दृष्टिकोण से उन्हें यह फैसला लेने की जरूरत है कि आगे से दो बड़े इवेंट एक ही तारीख को ना टकराएं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay