एडवांस्ड सर्च

Advertisement

क्या कट सकता है साहा का पत्ता? कोच शास्त्री ने दिए बड़े संकेत

aajtak.in [Edited By: तरुण वर्मा]
15 October 2018
क्या कट सकता है साहा का पत्ता? कोच शास्त्री ने दिए बड़े संकेत
1/6
भारतीय सेलेक्टर्स जब अगामी ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टेस्ट टीम के चयन के लिए बैठक करेगी तो उनकी सबसे बड़ी चिंता विकेटकीपर के चयन को लेकर होगी.
क्या कट सकता है साहा का पत्ता? कोच शास्त्री ने दिए बड़े संकेत
2/6
हालांकि टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने यह पहले से ही साफ कर दिया है कि विकेटकीपर के रूप में ऑस्ट्रेलिया कौन जाएगा. वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत के बाद कोच शास्त्री ने बड़े संकेत दिए हैं.
क्या कट सकता है साहा का पत्ता? कोच शास्त्री ने दिए बड़े संकेत
3/6
पीटीआई के मुताबिक कोच शास्त्री से जब ऋद्धिमान साहा की वापसी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘आपको मौजूदा फॉर्म को तरजीह देनी होगी.’ शास्त्री ने कहा, ‘पंत ने भी मौकों को पूरी तरह से भुनाया. उसने टीम में अपनी जगह मजबूत कर ली है.’
क्या कट सकता है साहा का पत्ता? कोच शास्त्री ने दिए बड़े संकेत
4/6
विकेटकीपर के मामले में विकल्प और भी कम है. ऋद्धिमान साहा अभी पूरी तरह फिट नहीं हुए है. ऐसे में ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए उनके चयन की संभावना ना के बराबर है. अगर उनका चयन होता भी है तो पंत ने साबित किया है कि बल्ले से वह ज्यादा काबिल खिलाड़ी है.
क्या कट सकता है साहा का पत्ता? कोच शास्त्री ने दिए बड़े संकेत
5/6
बता दें कि ऋषभ पंत ने पहले इंग्लैंड और फिर वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया है. वेस्टइंडीज के खिलाफ दोनों मैचों में पंत से 92-92 रन बनाए हैं. भारत को लंबे समय से ऐसे ही विकेटकीपर की तलाश थी जो आक्रामक बल्लेबाजी भी करता हो बिलकुल एमएस धोनी की तरह. इंग्लैंड की धरती पर शतक जड़कर इतिहास रचने वाले 20 साल के ऋषभ पंत ने वो कर दिखाया, जो भारत का कोई भी विकेटकीपर बल्लेबाज नहीं कर पाया था, महेंद्र सिंह धोनी भी नहीं.
क्या कट सकता है साहा का पत्ता? कोच शास्त्री ने दिए बड़े संकेत
6/6
इंग्लैंड के खिलाफ पंत ने 146 गेंदों में 114 रन बनाकर अपने करियर का न सिर्फ पहला टेस्ट शतक जमाया, बल्कि विकेटकीपर के तौर पर इंग्लैंड की सरजमीं पर इतिहास रच दिया. भारत 1932 से इंग्लैंड में टेस्ट क्रिकेट खेल रहा है. इन 86 साल में वहां की धरती पर शतक जमाने वाले वह पहले विकेटकीपर बन गए. इससे पहले धोनी ने 2007 में ओवल में ही 92 रन बनाए थे.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay