एडवांस्ड सर्च

Advertisement

लाहौर का वो हमला, आज भी PAK जाने से डर रहे श्रीलंकाई क्रिकेटर

aajtak.in
10 September 2019
लाहौर का वो हमला, आज भी PAK जाने से डर रहे श्रीलंकाई क्रिकेटर
1/8
पाकिस्तान अपनी धरती पर इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी के लिए बेताब है, लेकिन उसकी यह ख्वाहिश कामयाब होती नहीं दिख रही. श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के 10 खिलाड़ियों ने सुरक्षा के मद्देनजर पाकिस्तान दौरे पर जाने से साफ इनकार कर दिया है. इन खिलाड़ियों में वनडे टीम के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने, टी-20 कप्तान लसिथ मलिंगा, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज जैसे सीनियर खिलाड़ी शामिल हैं.

हालांकि श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड ने इस दौरे को रद्द करने या स्थगित करने का फैसला अभी नहीं किया है. 6 मैचों की सीमित ओवरों की सीरीज के लिए 27 सितंबर से दौरा होना है.
लाहौर का वो हमला, आज भी PAK जाने से डर रहे श्रीलंकाई क्रिकेटर
2/8
श्रीलंकाई क्रिकेटरों के इस कदम से 10 साल पहले हुए लाहौर आतंकी हमले की खौफनाक यादें ताजा हो गई हैं. श्रीलंका की टीम पर 3 मार्च 2009 को हमला हुआ था.
लाहौर का वो हमला, आज भी PAK जाने से डर रहे श्रीलंकाई क्रिकेटर
3/8
श्रीलंकाई क्रिकेट टीम उस वक्त लाहौर में टेस्ट सीरीज का दूसरा टेस्ट खेल रही थी. टीम तीसरे दिन के खेल के लिए अपने होटल से गद्दाफी स्टेडियम जा रही थी, तब 12 नकाबपोश आतंकियों ने उनकी टीम बस पर हमला कर दिया था.

फोटो में- पत्नी और बच्चे के साथ थिलन समरवीरा.

लाहौर का वो हमला, आज भी PAK जाने से डर रहे श्रीलंकाई क्रिकेटर
4/8
इस हमले में श्रीलंकाई टीम के कप्तान महेला जयवर्धने, कुमार संगकारा, अजंथा मेंडिस, थिलन समरवीरा, थरंगा पारनविताना और चामिंडा वास घायल हो गए थे. हमले में पाकिस्तान पुलिस के 6 जवान समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी. हमले के बाद श्रीलंका की टीम दौरा बीच में छोड़कर घर लौट आई थी.
लाहौर का वो हमला, आज भी PAK जाने से डर रहे श्रीलंकाई क्रिकेटर
5/8
इस दौरान बस को मेहर मोहम्मद खलील नाम का ड्राइवर चला रहा था. खलील की सूझबूझ ने पूरी टीम को मौत के मुंह से निकाल दिया था. वह भारी गोलीबारी के बीच बस को लगातार चलाकर स्टेडियम तक पहुंच गया.

 

फोटो में- महेला जयवर्धने के साथ उनकी पत्नी.

लाहौर का वो हमला, आज भी PAK जाने से डर रहे श्रीलंकाई क्रिकेटर
6/8
टीम बस पर हुए हमले की पूरी घटना के बारे में खलील ने बताया था. खलील के मुताबिक, 'शुरुआत में मुझे लगा कि लाहौर के लोग जश्न में पटाखे फोड़ रहे हैं. लेकिन थोड़ी देर बाद ही दो लोग मेरी तरफ दौड़ते हुए आए और गोलियां बरसाने लगे. इसके बाद मुझे लगा कि हमला हुआ है.'

फोटो में- अजंथा मेंडिस.

लाहौर का वो हमला, आज भी PAK जाने से डर रहे श्रीलंकाई क्रिकेटर
7/8
आतंकियों ने सबसे पहले बस को ही निशाना बनाया. पहले गोलियां चलाईं फिर रॉकेट भी दागा. लेकिन निशाना चूक गया. बस पर हैंड ग्रेनेड से भी हमला किया गया, लेकिन ग्रेनेड फटने के पहले बस उसके ऊपर से गुजर कर पार हो गई.

खलील के मुताबिक, 'उस वक्त मैं घबरा गया, लेकिन तभी श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने चिल्लाते हुए बस भगाने को कहा. मुझे 440 वोल्ट करंट जैसा महसूस हुआ. फिर पता नहीं क्या हुआ, मैं बिना कुछ सोचे समझे बस भगाने लगा.'

फोटो में- कुमार संगकारा और तिलकरत्ने दिलशान.

लाहौर का वो हमला, आज भी PAK जाने से डर रहे श्रीलंकाई क्रिकेटर
8/8
आखिरकार उसने 20 मिनट के अंदर बस को गद्दाफी स्टेडियम में लगा दिया. इस तरह खलील की बहादुरी से खिलाड़ियों की जान बच पाई. हमले के बाद श्रीलंकाई प्लेयर्स को स्टेडियम से एयरलिफ्ट कर एयरपोर्ट पहुंचाया गया था. खलील को श्रीलंका के राष्ट्रपति ने सम्मानित भी किया था.

फोटो में- ड्राइवर मेहर मोहम्मद खलील.


Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay