एडवांस्ड सर्च

Advertisement

'वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की हार मेरे कोचिंग करियर का सबसे निराशाजनक पल'

aajtak.in
18 August 2019
'वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की हार मेरे कोचिंग करियर का सबसे निराशाजनक पल'
1/7
टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने कहा कि न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में मिली हार पिछले 2 वर्षों में उनके कोचिंग करियर का सबसे निराशाजनक पल था.
'वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की हार मेरे कोचिंग करियर का सबसे निराशाजनक पल'
2/7
वर्ल्ड कप 2019 में जाने से पहले टीम इंडिया खिताब की प्रबल दावेदारों में शुमार थी. विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय क्रिकेट टीम के पास 8 साल बाद फिर से वर्ल्ड कप जीतने का मौका था. रवि शास्त्री ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में 30 मिनट की खराब क्रिकेट को हार का जिम्मेदार बताया.
'वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की हार मेरे कोचिंग करियर का सबसे निराशाजनक पल'
3/7
रवि शास्त्री ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए एक इंटरव्यू में कहा, 'मैं वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल को पिछले 2 वर्षों में अपने कोचिंग करियर का सबसे निराशाजनक पल कहूंगा. उन 30 मिनटों ने सब कुछ बदल दिया. हम वहीं थे और फिर सब कुछ हाथ से फिसल गया.'

'वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की हार मेरे कोचिंग करियर का सबसे निराशाजनक पल'
4/7
रवि शास्त्री ने कहा, 'हमने टूर्नामेंट में बहुत अच्छी क्रिकेट खेली. हमने किसी भी अन्य टीमों की तुलना में अधिक मैच जीते, पॉइंट्स टेबल में सबसे ऊपर रहे, लेकिन फिर एक बुरा दिन, एक बुरा सत्र और सब कुछ बदल गया.'

'वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की हार मेरे कोचिंग करियर का सबसे निराशाजनक पल'
5/7
बता दें कि न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में टीम इंडिया के टॉप-3 बल्लेबाजों ने बेहद घटिया प्रदर्शन किया. सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा, केएल राहुल और विराट कोहली मात्र 1-1 रन बनाकर आउट हो गए. वनडे इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब किसी टीम के टॉप-3 बल्लेबाज 1 रन के निजी स्कोर पर आउट हुए हों. भारतीय टीम ने 5 रन के स्कोर पर 3 विकेट खो दिए थे. इस हार के लिए भारतीय टीम के बल्लेबाज जिम्मेदार रहे. इस मुकाबले में महेंद्र सिंह धोनी और रवींद्र जडेजा के बीच शतकीय साझेदारी हुई, लेकिन वे भी टीम को जीत के दहलीज तक नहीं पहुंचा पाए.
'वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की हार मेरे कोचिंग करियर का सबसे निराशाजनक पल'
6/7
वर्ल्ड कप 2019 में भारत की हार के बावजूद रवि शास्त्री को एक बार फिर से टीम इंडिया का हेड कोच चुना गया. शास्त्री को कपिल देव की अगुवाई वाली क्रिकेट सलाहकार समिति ने हेड कोच नियुक्त किया.
'वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की हार मेरे कोचिंग करियर का सबसे निराशाजनक पल'
7/7
57 वर्षीय शास्त्री ने कहा, 'अगले दो साल में 2020 और 2021 में आईसीसी के दो बड़े टी-20 टूर्नामेंट होने हैं. इसलिए टी-20 इंटरनेशनल फॉर्मेट में हम युवा और प्रतिभावान खिलाड़ियों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद करेंगे.'
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay