एडवांस्ड सर्च

Advertisement

तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत

तरुण वर्मा
11 November 2019
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
1/12
ऐसा लग रहा था कि भारत नागपुर में तीसरे और निर्णायक टी-20 मैच में हार के साथ ही बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज गंवा देगा, लेकिन एक खिलाड़ी ने अहम मौके पर मैच बदल दिया.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
2/12
भारत ने हारी हुई बाजी अचानक जीत ली, लेकिन इस खिलाड़ी का प्रदर्शन दब गया. सही मायने में मैच और सीरीज जिताने के असली हीरो भारत के 26 साल के युवा ऑलराउंडर शिवम दुबे रहे. इस मैच में शिवम दुबे ने तीन विकेट लिए, जो अपने इंटरनेशनल करियर का तीसरा मैच ही खेल रहे थे.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
3/12
इस निर्णायक मैच में जिस समय बांग्लादेशी बल्लेबाज मोहम्मद नईम और मोहम्मद मिथुन भारतीय गेंदबाजों की निशाना बना रहे थे तब शिवम दुबे ने ही नाजुक हालात में 81 रन बना चुके मोहम्मद नईम को आउट कर टीम इंडिया की जीत के दरवाजे खोल दिए, नहीं तो भारत ने लगभग मैच और सीरीज गंवा ही दी थी.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
4/12
भारत ने बेहतरीन वापसी करते हुए नागपुर में खेले गए तीसरे और निर्णायक टी-20 इंटरनेशनल मैच में बांग्लादेश को 30 रनों से मात देकर तीन मैचों की टी-20 सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
5/12
भारत की इस जीत के लिए तेज गेंदबाज दीपक चाहर को उनकी हैट्रिक और छह विकेट के लिए भले ही 'मैन ऑफ द मैच' का अवॉर्ड दिया गया हो, लेकिन एक समय नाजुक हालात में शिवम दुबे का मोहम्मद नईम को आउट करना इस मैच और सीरीज के नतीजे के लिहाज से निर्णायक साबित हुआ.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
6/12
बांग्लादेशी बल्लेबाज मोहम्मद नईम (उम्र- 20 साल 80 दिन) 48 गेंदों में 81 रन बनकर आउट हो गए. वह अगर शतक बनाने में कामयाब होते, तो सबसे कम उम्र में टी-20 इंटरनेशनल में शतक बनाने का वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर लेते.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
7/12
आखिरकार नईम को बोल्ड कर शिवम दुबे ने उन्हें इस बड़े रिकॉर्ड तक पहुंचने नहीं दिया.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
8/12
दरअसल, एक समय मैच में बांग्लादेश की टीम बेहद मजबूत नजर आ रही थी और उनका स्कोर 12.5 ओवर में 110 रन पर 3 विकेट था. तब बांग्लादेश को 43 गेंदों में 65 रनों की दरकार थी.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
9/12
क्रीज पर उस वक्त मोहम्मद नईम और मुश्फिकुर रहीम थे. बांग्लादेश का जीत के लिए बाकी बचे 65 रन और बनाना बेहद आसान लग रहा था.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
10/12
लेकिन, शिवम दुबे ने 14वें ओवर की पहली गेंद पर मुश्फिकुर रहीम को शून्य पर बोल्ड कर दिया जो मैच का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ. शिवम दुबे ने इसके बाद 16वें ओवर में शतक की तरफ बढ़ रहे और बांग्लादेश को जीत के करीब ले जा रहे मोहम्मद नईम का काम तमाम कर दिया.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
11/12
16वें ओवर की तीसरी गेंद पर शिवम दुबे ने मोहम्मद नईम को आउट कर दिया. दुबे ने अगली गेंद पर अफिफ हुसैन को भी आउट कर बांग्लादेश की कमर तोड़ दी. बांग्लादेश ने अपने आखिरी सात विकेट 34 रनों के अंदर ही गंवा दिए.
तीसरे मैच में ही ये खिलाड़ी बना बाजीगर, टीम की बचाई इज्जत
12/12
भारत ने 20 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 174 रन बनाए थे, जिसके जवाब में बांग्लादेश की पूरी टीम 19.2 ओवर में 144 रनों पर ढेर हो गई.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay