एडवांस्ड सर्च

FIFA वर्ल्ड कप 2018: सियोनेक के आत्मघाती गोल से सेनेगल ने पोलैंड को दी मात

लिवरपूल के स्ट्राइकर माने ने इदरिसा गुये को गेंद सौंपी, लेकिन सियोनेक ने गोल बचाने के चक्कर में आत्मघाती गोल कर डाला.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: विश्व मोहन मिश्र]मॉस्को, 20 June 2018
FIFA वर्ल्ड कप 2018: सियोनेक के आत्मघाती गोल से सेनेगल ने पोलैंड को दी मात सियोनेक का आत्मघाती गोल

थियागो सियोनेक के आत्मघाती गोल और पोलैंड के गोलकीपर वोजसियेच एस की भारी चूक की बदौलत सेनेगल ने फीफा विश्व कप के अपने पहले मैच में 2-1 से जीत दर्ज की. इसके साथ ही मौजूदा टूर्नामेंट में जीत का स्वाद चखने वाली वह पहली अफ्रीकी टीम बन गई.

मिडफील्डर ग्रजेगोर्ज क्रायचोवियाक ने 86वें मिनट में हेडर लगाकर टीम को मैच में लौटाने की कोशिश की, लेकिन सेनेगल की बढ़त खत्म नहीं कर सके. इस मुकाबले को स्ट्राइकर राबर्ट लेवांडोवस्की और सादियो माने के बीच का मुकाबला माना जा रहा था, लेकिन दोनों में से कोई गोल नहीं कर सका.

लिवरपूल के स्ट्राइकर माने ने इदरिसा गुये को गेंद सौंपी, लेकिन सियोनेक ने गोल बचाने के चक्कर में आत्मघाती गोल (37वें मिनट में) कर डाला. सेनेगल ने 60वें मिनट में बढ़त दुगुनी कर ली, जब जुवेंटर के अनुभवी गोलकीपर ने भारी गलती की. चोट के इलाज के लिए मैदान से बाहर गए एमबाये नियांग ने क्रायचोवियाक के कमजोर बैकपास पर गेंद पर कब्जा किया.

पोलैंड के अधिकांश खिलाड़ियों को पता ही नहीं था कि नियांग मैदान पर लौट चुके हैं. वह पोलैंड के गोलकीपर के सामने गेंद लेकर गए और खाली नेट के भीतर डाल दी. विश्व कप 2002 के क्वार्टर फाइनल तक पहुंची सेनेगल एक और गोल कर देती, लेकिन सालिफ साने का हेडर निशाना चूक गया.

पोलैंड के लिए एकमात्र गोल क्रायचोवियाक ने किया, लेकिन इसके बाद चार ही मिनट का खेल बचा था. अब सेनेगल का सामना रविवार को जापान से होगा, जिसने कोलंबिया को 2-1 से हराया.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay