एडवांस्ड सर्च

क्या कोहली के इन फैसलों ने लॉर्ड्स में कर दिया टीम इंडिया का बेड़ा गर्क?

गौरतलब है कि इंग्लैंड ने टीम इंडिया को लॉर्ड्स में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में पारी और 159 रनों से मात दे दी है. साथ ही मेजबान टीम ने पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-0 से बढ़त बना ली है.

Advertisement
मोहित ग्रोवरनई दिल्ली, 13 August 2018
क्या कोहली के इन फैसलों ने लॉर्ड्स में कर दिया टीम इंडिया का बेड़ा गर्क? लॉर्ड्स की बालकनी में विराट कोहली, फोटो क्रेडिट - Getty Images

टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 भारतीय टीम अंग्रेजों के सामने क्रिकेट के मक्का लॉर्ड्स में बुरी तरह से फेल हो गई. 5 मैचों की सीरीज़ में भारत अब 0-2 से पिछड़ गया है. लॉर्ड्स टेस्ट में भारतीय टीम जिस तरह से पारी से हारी है उससे फैंस के हाथ निराशा लगी है. लेकिन इस हार से अब कई सवाल भी उठ रहे हैं, सवाल उठने लाजिमी भी हैं. क्योंकि सीरीज़ शुरू होने से पहले बड़ी-बड़ी बातें की जा रही थीं, लेकिन अब टेस्ट की ये नंबर 1 टीम फिसड्डी साबित हो रही है.

विराट कोहली बतौर बल्लेबाज मौजूदा समय में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं, लेकिन लॉर्ड्स में बतौर कप्तान उनकी कई गलतियां भारतीय टीम पर भारी पड़ गई. जिसको लेकर कई पूर्व क्रिकेटरों ने भी सवाल खड़े किए हैं.

1. हार्दिक के चयन पर सवाल

भारत पिछले काफी लंबे समय से एक ऑलराउंडर की तलाश में है. लेकिन ये तलाश पूरी ही नहीं हो रही है. अभी टीम में हार्दिक पंड्या बतौर ऑलराउंडर खेल रहे हैं, लेकिन उनके प्रदर्शन को आधार बनाए तो वह इसपर बिल्कुल खरे नहीं उतरते हैं. महान क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने भी उनके टीम में होने पर सवाल खड़े कर दिए हैं.

लॉर्ड्स टेस्ट में हार्दिक पंड्या ने दोनों पारियों में मिलाकर सिर्फ 37 रन बनाए तो वहीं 3 विकेट झटके. वहीं पहले टेस्ट में भी हार्दिक 53 रन बना पाए थे और उनके हाथ कोई विकेट नहीं लगा था. दरअसल, पिछले दो मैचों में जब भी बल्लेबाजी मुश्किल में रही और क्रीज़ पर हार्दिक की जरूरत रही वो फेल रहे.

2. एक तेज गेंदबाज की खली कमी

लॉर्ड्स टेस्ट का पहला दिन पूरी तरह से बारिश में धुल गया था, जिसकी वजह से टॉस में देरी हुई थी. लेकिन पिच रिपोर्ट के समय सभी पूर्व क्रिकेटरों ने कहा था कि अगर इस पिच पर एक स्पिनर के साथ भी उतरा जाए तो अच्छा रहेगा. पिच तेज गेंदबाजों के मुताबिक थी, इसके बावजूद उमेश यादव जैसे गेंदबाज को नहीं खिलाया गया. लॉर्ड्स में ईशांत, हार्दिक और शमी को विकेट मिले, उसके अलावा इंग्लैंड की जीत के कारण भी तेज गेंदबाज ही रहे.

3. क्यों नहीं मिला एक अधिक बल्लेबाज को मौका?

अभी तक दोनों टेस्ट में भारतीय बल्लेबाजी पूरी तरह से फेल रही है. कप्तान विराट कोहली की 149 रनों की पारी को छोड़ें तो अभी तक कोई बड़ा असर देखने को नहीं मिला है. बल्लेबाजों के हालात को देखते हुए अगर टीम इंडिया ने लॉर्ड्स टेस्ट में टीम में एक अधिक बल्लेबाज के साथ उतरती तो शायद वह फायदेमंद हो सकता था. दूसरे टेस्ट में टीम में बदलाव किया गया, जिसमें स्पिनर को मौका दिया गया जो शायद किसी भी तरह से सही फैसला नहीं था.

4. क्या लापरवाही पड़ी भारी?

टीम इंडिया के इस प्रदर्शन पर लगातार सवाल उठ रहे हैं. पूर्व क्रिकेटरों से लेकर क्रिकेट के जानकार तक हर कोई टीम मैनेजमेंट को आड़े हाथों ले रहा है. टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले भारतीय टीम ने सिर्फ एक प्रैक्टिस मैच खेला, क्योंकि उन्हें 5 दिन की छुट्टी चाहिए थी. और जो एक प्रैक्टिस मैच खेला वह भी सिर्फ 3 दिन का. ऐसे में सोशल मीडिया पर भी टीम इंडिया की इस लापरवाही की काफी आलोचना हो रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay