एडवांस्ड सर्च

न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया का पलड़ा भारी: ब्रेट ली

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली का मानना है कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच होने वाली सीरीज में मेजबान भारत की टीम कहीं अधिक मजबूत है. भारत और न्यूजीलैंड को तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है जिसका पहला मैच 22 सितंबर से कानपुर में खेला जाएगा.

Advertisement
aajtak.in
अभिजीत श्रीवास्तव नई दिल्ली, 21 September 2016
न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया का पलड़ा भारी: ब्रेट ली ब्रेट ली के पास 310 टेस्ट, 380 वनडे और 28 टी20 अंतरराष्ट्रीय विकेट लेने का अनुभव है

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली का मानना है कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच होने वाली सीरीज में मेजबान भारत की टीम कहीं अधिक मजबूत है. भारत और न्यूजीलैंड को तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है जिसका पहला मैच 22 सितंबर से कानपुर में खेला जाएगा. भारतीय टीम की प्रशंसा करते हुए ली ने टीम को संतुलित बताया है. ब्रेट ली ने कहा कि भारतीय टीम मजबूत बल्लेबाजी के कारण आंकड़ों के आधार पर किवी टीम से बेहतर दिखाई दे रही है.

ब्रेट ली दोनों देशों के बीच होने वाली सीरीज से पहले एक चर्चा में शामिल होने आए थे. उनके साथ इस चर्चा में भारत को पहला वर्ल्ड कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव और पूर्व कलात्मक बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण भी शामिल थे.

ब्रेट ली ने दी भारत को बधाई
ब्रेट ली ने कहा, ‘भारत न्यूजीलैंड के खिलाफ बेहद मजबूत है. भारत के पास बल्लेबाजी क्रम में काफी विकल्प हैं. उनका बल्लेबाजी क्रम मजबूत है. आपके पास शिखर धवन हैं जो मौका गंवाने के बाद अपने आप को साबित करने के लिए तैयार हैं.’ उन्होंने कहा, ‘उनके पास अच्छी गेंदबाजी आक्रमण भी है. वह संतुलित टीम हैं.’

कानपुर में भारत और न्यूजीलैंड के बीच होने वाली सीरीज का पहला टेस्ट मैच मेजबानों का 500वां टेस्ट मैच होगा. ली ने इस उपलब्धि के लिए भारत को बधाई दी है.

क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद कॉमेंट्री की दुनिया में कदम रखने वाले ली ने कहा, ‘भारत के लिए 500वां टेस्ट मैच खेलना गर्व की बात है. न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज बेहद शानदार होने वाली है.’

‘मैदान पर खिलाड़ी ही खेलते हैं’
ऐशेज सीरीज की तैयारी के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने हाल ही में इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज ग्रीम हिक को अपना बल्लेबाजी कोच नियुक्त किया है. ली का मानना है कि उनका अनुभव भारत के खिलाफ भी टीम के काम आएगा. उन्होंने कहा, ‘हां यह बिल्कुल काम करेगा. यह ऑस्ट्रेलिया के लिए काम कर सकता है. मेरा मानना है कि काफी कुछ खिलाड़ियों पर निर्भर करता है. कोच, संरक्षक, सहयोगी स्टाफ का होना अच्छी बात है लेकिन मैदान पर खिलाड़ियों को ही खेलना होता है.’

ली ने भारत दौरे के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम को भी सलाह दी है. 2013 में ऑस्ट्रेलिया को भारत में 0-4 से हार का सामना करना पड़ा था.

ली ने कहा, ‘ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को गेंद पर काम करने और रिवर्स स्विंग पर सुधार करने की जरूरत है. हम सभी जानते हैं कि इसको करने के सही और गलत दोनों तरीके हैं. ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को समझना होगा कि भारत में रिवर्स स्विंग महत्वपूर्ण है.’

दुनियाभर की तमाम टी-20 क्रिकेट लीगों में खेल चुके ली का मानना है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलने से ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को उपमहाद्वीप की परिस्थतियों की अच्छी समझ हो गई है. उन्होंने कहा, ‘आईपीएल में खेलने से निश्चित ही ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भारतीय परिस्थतियों के आदि हो गए हैं. वह इसलिए क्योंकि आईपीएल में वह धीमी पिचों पर खेलते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘यह उसी तरह है कि आप जितनी क्रिकेट खेलोगे उतने बेहतर होगे. अगर वह यहां कई वर्षों से खेले नहीं होते तो इसका परिणाम पर असर पड़ता.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay