एडवांस्ड सर्च

गांगुली ने बताया- क्यों धोनी-सचिन-द्रविड़ से बेहतर कप्तान हैं कोहली

सौरव गांगुली ने कहा कि कोहली ने अब तक शानदार प्रदर्शन किया है और उनके नेतृत्व में जल्द ही टीम इंडिया विदेशों में टेस्ट सीरीज जीत हासिल करने में कामयाब होगी.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: विश्व मोहन मिश्र] 20 February 2018
गांगुली ने बताया- क्यों धोनी-सचिन-द्रविड़ से बेहतर कप्तान हैं कोहली विराट-गांगुली

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने विराट कोहली की कप्तानी और दक्षिण अफ्रीका में भारत की ऐतिहासिक वनडे सीरीज जीत में उनकी उत्कृष्ट बल्लेबाजी की जमकर प्रशंसा की है. सौरव गांगुली ने कहा कि कोहली ने अब तक शानदार प्रदर्शन किया है और उनके नेतृत्व में जल्द ही टीम इंडिया विदेशों में टेस्ट सीरीज जीत हासिल करने में कामयाब होगी.

उन्होंने कहा, 'ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में अगली दो सीरीज विराट को कप्तान के रूप में परिभाषित करेगी. उन्होंने क्षमता हासिल कर ली है. साउथ अफ्रीका के खिलाफ उनके शतकों पर तो गौर कीजिए.' गांगुली ने इंडिया टुडे से कहा, 'मैंने एमएस धोनी और राहुल द्रविड़ को कप्तान के रूप मे देखा है. लेकिन इस निरंतरता के साथ किसी भी कप्तान को बल्लेबाजी करते नहीं देखा.'

45 साल के गांगुली ने इस युवा कप्तान को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले एक सलाह दी है. उन्होंने कहा, 'इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के लिए विराट और टीम को जल्दी जाना चाहिए और सीरीज में उतरने से पहले वहां कुछ मैच जरूर खेलने चाहिए.'

कोहली का करिश्मा, सेंचुरियन वनडे में बनाए कई अद्भुत रिकॉर्ड

भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक गांगुली ने कहा कि कोहली वास्तव में महान बल्लेबाज हैं. दिल्ली के इस जांबाज बल्लेबाज ने 2017 में वनडे इंटरनेशनल में सबसे ज्यादा रन बनाए हैं. एक बार फिर 2018 में भी वह रन स्कोरिंग चार्ट में शीर्ष पर हैं.

गांगुली ने कहा, 'कोहली भारतीय क्रिकेट का ध्वजवाहक हैं. मैंने खुद के अलावा द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर को फॉर्म में रहते हुए अच्छा परफॉर्म करते देखा है, लेकिन मेरा मानना है कि कोहली वाकई महान हैं.'

दरअसल, गांगुली कहना चाहते हैं कि धोनी, द्रविड़, सचिन तेंदुलकर और खुद गांगुली अच्छे कप्तान और बल्लेबाज थे. लेकिन उनमें से किसी ने एक समय में कप्तान और बल्लेबाज के तौर दोनों विभागों में एक साथ सफलता हासिल नहीं की. उन्होंने या तो बल्ले से काफी रन बनाए, या कप्तानी में अच्छा किया. लेकिन कोहली के मामले में ऐसा नहीं है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay