एडवांस्ड सर्च

रविचंद्रन अश्विन के कारण लगातार दो सीरीज जीतेः विराट कोहली

भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने लगातार दो सीरीज जीतने का पूरा श्रेय टीम के फिरकी गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन को दिया है. अश्विन ने शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी में सात और मैच में 12 विकेट लिए. उनकी शानदार गेंदबाजी की बदौलत भारत ने केवल ढाई दिनों में ही तीसरे टेस्ट के साथ ही चार मैचों की सीरीज भी 2-0 से अपने नाम कर ली.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: अभिजीत श्रीवास्तव]नई दिल्ली, 28 November 2015
रविचंद्रन अश्विन के कारण लगातार दो सीरीज जीतेः विराट कोहली नागपुर टेस्ट में जीत के बाद मैदान से बाहर जाते कप्तान कोहली और अश्विन

भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने लगातार दो सीरीज जीतने का पूरा श्रेय टीम के फिरकी गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन को दिया है. अश्विन ने शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी में सात और मैच में 12 विकेट लिए. उनकी शानदार गेंदबाजी की बदौलत भारत ने केवल ढाई दिनों में ही तीसरे टेस्ट के साथ ही चार मैचों की सीरीज भी 2-0 से अपने नाम कर ली.

विराट कोहली की अगुवाई में भारत ने इससे पहले श्रीलंका को उसकी सरजमीं पर 2-1 से हराया था. कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘रविचंद्रन अश्विन विश्वस्तरीय स्पिनर है. उन्होंने हमारी जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. यहां तक की श्रीलंका में भी जीत का मुख्य कारण अश्विन ही थे. उनकी वजह से हम लगातार दो सीरीज जीतने में सफल रहे. वह हमारी तरफ से लगातार अच्छा प्रदर्शन करते रहे हैं. यह हमारे लिए खुशी की बात है कि हमारे पास अश्विन जैसा खिलाड़ी है.’

अश्विन, रविंद्र जडेजा और अमित मिश्रा ने स्पिनरों की मददगार पिच पर सभी 20 विकेट हासिल किए और कोहली अपनी स्पिन ब्रिगेड से खुश हैं.

विराट कोहली ने कहा, ‘यही टेस्ट क्रिकेट है. हमें गेंद से संयम बनाए रखने की जरूरत होती है और यह विश्वास रखना होता है कि मौका मिलेगा. मिश्रा ने इस दौरान अपने जज्बे का बहुत अच्छा नमूना पेश किया. सीरीज में स्पिनरों की तूती बोल रही है.’

उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि विकेट चुनौतीपूर्ण था. मोहाली में बल्लेबाजों ने बेहतर प्रदर्शन किया. यह सब कुछ टिककर खेलने से जुड़ा हुआ है. इसको लेकर कोई बहाना नहीं है. हमारे बल्लेबाजों ने तीन पारियों में जज्बा दिखाया. कई बार परिस्थितियां गेंदबाजों के अनुकूल होती है और मौके बनाए जा सकते हैं. सीरीज जीतना बेहद महत्वपूर्ण है. दिल्ली में हमारे पास अपना अच्छा प्रदर्शन बरकरार रखने का मौका होगा.’

अश्विन को अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी के दौरान 66 रन देकर सात विकेट लिए और ‘मैन ऑफ द मैच’ चुने गए. उन्होंने कहा, ‘आज विकेट थोड़ा धीमा पड़ गया था. विकेट से मदद मिल रही थी लेकिन जिस तरह से फाफ (डु प्लेसिस) और (हाशिम) अमला खेल रहे थे तो हमें कुछ अच्छी गेंदें करने की जरूरत थी. एक टीम मुकाबला करने की कोशिश कर रही थी और एक टीम जीत की. बल्लेबाज शतक बनाना चाहते थे और मैं पांच विकेट लेना चाहता है.’

उन्होंने कहा, ‘अमित ने लंच के बाद बेहतरीन स्पैल किया और इस सत्र में दो कीमती विकेट लिए. कोई भी बल्लेबाज जिसे अपने डिफेन्स पर विश्वास है वह अच्छा खेल सकता था.’

विदेशी सीरीज में 10 साल में पहली हार
विदेशी धरती पर दक्षिण अफ्रीकी टीम की यह पिछले 10 सालों में पहली हार है. 2006-07 में अफ्रीकी टीम श्रीलंकाई सरजमीं पर टेस्ट सीरीज हारी थी. तब से अब तक विदेशों में लगातार 15 सीरीज में वो अपराजित रही. इस दौरान अफ्रीका ने दो बार भारत का भी दौरा किया लेकिन दोनों ही बार सीरीज 1-1 से ड्रॉ रही. विराट कोहली की कप्तानी में अफ्रीकी टीम पर मिली इस सीरीज जीत से पहले टीम इंडिया ने सौरव गांगुली की कप्तानी में 2004-05 में अफ्रीका को हराया था. तब टेस्ट सीरीज का नतीजा 1-0 से भारत के पक्ष में रहा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay