एडवांस्ड सर्च

कश्मीर में आतंकियों की ‘एप्पल कॉन्सपिरेसी’, स्थानीय निवासी से लेकर ट्रक ड्राइवर निशाने पर

किसी बड़ी घुसपैठ या आतंकी घटना करने में नाकाम हो रहा पाकिस्तान अब आम नागरिकों को निशाना बना रहा है. बीते कुछ दिनों में आतंकियों की तरफ से सेब के व्यापारी, किसानों को निशाना बनाया जा रहा है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in श्रीनगर, 17 October 2019
कश्मीर में आतंकियों की ‘एप्पल कॉन्सपिरेसी’, स्थानीय निवासी से लेकर ट्रक ड्राइवर निशाने पर सेब व्यापारियों को निशाने पर ले रहे हैं आतंकी (फोटो: Getty)

  • जम्मू-कश्मीर में शांति से घबराए आतंकी
  • सेब व्यापारियों को बनाया जा रहा निशाना
  • पिछले एक हफ्ते में हुईं हैरान करने वाली घटनाएं

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए दो महीने से अधिक हो गया है, लेकिन पाकिस्तान के गले से अभी ये बात नहीं उतर रही है. किसी बड़ी घुसपैठ या आतंकी घटना करने में नाकाम हो रहा पाकिस्तान अब आम नागरिकों को निशाना बना रहा है. बीते कुछ दिनों में आतंकियों की तरफ से सेब के व्यापारी, किसानों को निशाना बनाया जा रहा है. कश्मीरी सेब दुनियाभर में मशहूर है और इस वक्त इसका सीज़न चल रहा है.

आतंकियों की तरफ से पिछले एक हफ्ते में ऐसे कई हमले किए गए हैं, जिनमें निशाना सेब व्यापारी रहे हैं. फिर चाहे ट्रक ड्राइवर पर हमला हो, सेब में लिखे पाकिस्तानी समर्थित नारे हो. पाकिस्तानी समर्थित आतंकियों की सिर्फ एक ही कोशिश है कि किस तरह जम्मू-कश्मीर में अशांति फैलाई जाए.

पंजाब से आए व्यापारियों पर हमला

बुधवार को पंजाब के रहने वाले जब दो सेब व्यापारी जम्मू-कश्मीर पहुंचे, तो आतंकियों ने उनपर हमला कर दिया. जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सेब व्यापारी चरणजीत सिंह, संजीव को आतंकियों ने गोली मारी. इनमें चरणजीत की मौत हो गई जबकि संजीव की हालत काफी खराब है. आतंकियों ने इन दोनों पर देर शाम करीब 7.30 बजे हमला किया था.

राजस्थान के सेब व्यापारी को बनाया था निशाना

पंजाब के व्यापारियों से पहले आतंकियों ने एक और गैर-कश्मीरी को निशाना बनाया था. शोपियां में ही ट्रक में सेब भरकर ले जा रहे राजस्थानी ट्रक ड्राइवर को आतंकियों ने अपना निशाना बनाया और गोली मार दी. इस हमले में ट्रक ड्राइवर की मौत हो गई थी, जिसके बाद हालात काफी तनावपूर्ण हो गए थे. इसके अलावा आतंकियों के द्वारा बाग मालिक की पिटाई भी की गई थी.

इसके अलावा पुलवामा में भी आतंकियों के द्वारा छत्तीसगढ़ के एक मजदूर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

कठुआ में ‘पाकिस्तान समर्थित’ नारों की गूंज

इन हमलों के अलावा बुधवार को पाकिस्तान की एक और साजिश सामने आई. जम्मू के कठुआ क्षेत्र में जब सेब पेटियों को खोला गया, तो उसमें भारत विरोधी नारे लिखे हुए थए. पेटियों में निकले सेबों में पाकिस्तान जिंदाबाद, वी वांट फ्रीडम, इस्लामाबाद कश्मीर समेत कई ऐसे नारे थे. इसका कठुआ की फल रेहड़ियों वालों ने विरोध किया और पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी की.

क्यों बौखला रहे हैं आतंकी?

गौरतलब है कि पिछले दो महीने से जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के हटाए जाने के बाद काफी पाबंदियां लगी हुई थीं, लेकिन बीते दिनों में पाबंदियों को कम किया गया है. जिसके बाद घाटी में हलचल बढ़ी है, सेब के व्यापारी आने-जाने लगे हैं, टूरिस्टों का भी आना शुरू हो गया है. यही कारण है कि आतंकी जम्मू-कश्मीर में फिर से सामान्य हो रहे हालातों से परेशान हैं.

बता दें कि हाल ही में जम्मू-कश्मीर में पोस्टपेड मोबाइल सर्विस को शुरू कर दिया गया है. करीब 70 दिन बाद एक बार फिर घाटी में फोन की घंटियां बजी हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay