एडवांस्ड सर्च

Advertisement

रहाणे-पुजारा को लेकर इस दिग्गज क्रिकेटर ने कोहली को दी नसीहत

वॉ ने कहा कि कोहली को संतुलन बनाने की जरूरत है, क्योंकि टीम में सभी खिलाड़ी उनकी तरह खुद को अभिव्यक्त करने वाले नहीं हैं.
रहाणे-पुजारा को लेकर इस दिग्गज क्रिकेटर ने कोहली को दी नसीहत विराट-स्टीव वॉ
aajtak.in [Edited By: विश्व मोहन मिश्र]मोनाको, 27 February 2018

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ का मानना है कि हाल में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर विराट कोहली जरूरत से ज्यादा आक्रामक थे, लेकिन यह करिश्माई भारतीय कप्तान के रूप में उनके विकास का हिस्सा है. भारत ने दक्षिण अफ्रीका के 58 दिवसीय दौरे पर प्रभावी प्रदर्शन किया, जिसमें टीम ने टेस्ट सीरीज 1-2 से गंवाने के बाद वनडे और टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज क्रमश: 5-1 और 2-1 से जीती.

ये भी पढ़ें- कोहली का करिश्मा, सेंचुरियन वनडे में बनाए कई अद्भुत रिकॉर्ड

वॉ ने यहां लारेस विश्व खेल पुरस्करों के इतर पीटीआई से कहा, ‘मैंने उसे दक्षिण अफ्रीका में देखा और मुझे लगता है कि वह जरूरत से ज्यादा कर रहा था, लेकिन यह कप्तान के लिए सीखने की चीज है.’ वॉ ने कहा कि कोहली को संतुलन बनाने की जरूरत है, क्योंकि टीम में सभी खिलाड़ी उनकी तरह खुद को अभिव्यक्त करने वाले नहीं हैं. उन्होंने कहा, ‘कप्तान के रूप में वह अब भी विकास कर रहा है और अपने रोमांच और भावनाओं को काबू में रखने के लिए उसे कुछ समय चाहिए, लेकिन वह इसी तरह खेलता है.’

ऑस्ट्रेलियाई दिग्ग्ज ने कहा, ‘मुझे लगता है कि उसे सिर्फ इतना समझने की जरूरत है कि टीम में सभी लोग इस तरह नहीं खेल सकते. (अजिंक्य) रहाणे और (चेतेश्वर) पुजारा जैसे लोग काफी धैर्यवान और शांत हैं, इसलिए उसे सिर्फ इतना समझने की जरूरत है कि कुछ खिलाड़ी अलग होते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘वह अभी काफी अच्छी तरह टीम की अगुआई कर रहा है. उसके अंदर वह करिश्मा और एक्स फेक्टर है और इसलिए वह चाहता है कि बाकी टीम भी उसका अनुसरण करे. वह चाहता है कि टीम हमेशा सकारात्मक होकर खेले और जितनी जल्दी हो सके जीत दर्ज करे.’

शाबाश विराट! भारत ने लगातार 9 वनडे सीरीज जीतकर ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड तोड़ा

वॉ ने कहा, ‘पिछले कुछ वर्षों में खेल के सभी प्रारूपों में उनका जीत का रिकॉर्ड काफी अच्छा है. विराट की अपनी टीम के लिए बड़ी महत्वाकांक्षाएं हैं. वह सभी प्रारूपों में नंबर एक बनना चाहता है जो आजकल मुश्किल है.’

कोहली और भारत की नजरें अब इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में जीत दर्ज करने पर टिकी हैं, जो टेस्ट क्रिकेट में उसकी अगली दो बड़ी चुनौतियां हैं. भारत इंग्लैंड में अगस्त और सितंबर में पांच टेस्ट की सीरीज खेलेगा, जबकि 2018-19 की गर्मियों में टीम को आस्ट्रेलिया में चार टेस्ट मैच खेलने हैं.

हालांकि वॉ का मानना है कि ऐसा करना आसान नहीं होगा और ऑस्ट्रेलिया में भारत की सफलता के लिए कोहली महत्वपूर्ण होंगे. उन्होंने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया प्रबल दावेदार होगा, क्योंकि हमारा रिकॉर्ड इतना अच्छा है, जैसे भारत का भारत में. बेशक ऑस्ट्रेलिया में कोहली का प्रदर्शन महत्वपूर्ण होगा. पिछली बार उसने ऑस्ट्रेलिया में शानदार प्रदर्शन किया था.’

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay