एडवांस्ड सर्च

हरभजन सिंह की दो टूक, बोले- विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच न खेले भारत

हरभजन सिंह ने कहा कि हम पहले हिन्दुस्तानी हैं उसके बाद क्रिकेटर हैं. अगर आज हमारे भाइयों के ऊपर हमले हो रहे हैं और उसमें पाकिस्तान का हाथ है तो फिर हमें इनके साथ किसी तरह के संबंध नहीं रखना चाहिए.

Advertisement
aajtak.in
विक्रांत गुप्ता नई दिल्ली, 19 February 2019
हरभजन सिंह की दो टूक, बोले- विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच न खेले भारत हरभजन सिंह (फोटो- आजतक)

पुलवामा आतंकी हमले में 40 CRPF जवानों की शहादत के बाद देश भर में गुस्सा है. इस बीच भारतीय क्रिकेटर हरभजन सिंह ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि भारत को आगामी विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच नहीं खेलना चाहिए. 'आजतक' से खास बातचीत में फिरकी गेंदबाज ने दो टूक शब्दों में कहा कि हम पहले भारतीय हैं और उसके बाद क्रिकेटर हैं, हमारे लिए देश से ऊपर कुछ भी नहीं है.

ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने आतंकी हमले को कायराना हरकत बताते हुए कड़े शब्दों में इसकी निंदा की. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान बार-बार ऐसी ही हरकतें करता है और हमें उसके साथ किसी तरह के संबंध नहीं रखने चाहिए. हरभजन ने कहा कि भारत अगर 16 जून को मैनचेस्टर में पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले विश्व कप के मैच को गंवा भी देता है तब भी हमारी टीम इतनी मजबूत है कि विश्व कप जीत सकती है.

देश के साथ खड़े हैं हम...

हरभजन ने कहा, ‘यह कठिन समय है, हमला हुआ है, यह अविश्वसनीय है और बहुत गलत है. सरकार जरूर कड़ी कार्रवाई करेगी, उसे मुझे भरोसा है. जहां तक क्रिकेट का सवाल है तो मुझे नहीं लगता कि हमें उनके साथ कोई भी संबंध रखना चाहिये वरना ऐसा चलता रहेगा.’उन्होंने कहा, ‘हमें देश के साथ खड़े होना चाहिये, क्रिकेट या हॉकी या किसी भी खेल में हमें उनके साथ नहीं खेलना चाहिये.’

हरभजन सिंह ने कहा कि हम पहले हिन्दुस्तानी हैं उसके बाद क्रिकेटर हैं. अगर आज हमारे भाइयों के ऊपर हमले हो रहे हैं और उसमें पाकिस्तान का हाथ है तो फिर हमें इनके साथ किसी तरह के संबंध नहीं रखना चाहिए. फिर वो क्रिकेट हो चाहे व्यापार. भारत आज इतना ताकतवर है कि किसी को भी खिला सकता है, इतना अनाज हमारे मुल्क में पैदा होता है. क्रिकेट और खेल बहुत छोटी चीज है, हमें जवानों के परिवारों के साथ खड़े होना चाहिए, उन्होंने देश के लिए बलिदान दिया है और यह बलिदान बेकार नहीं जाना चाहिए.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान के बारे में बोलते हुए हरभजन ने कहा कि हमले के बाद से इमरान का कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है. उन्होंने कहा कि पहले मुझे लगता था कि इमरान खान के आने से दोनों मुल्कों के रिश्ते मजबूत होंगे, लेकिन अगर ऐसे ही हमले होते रहेंगे तो भारत चुप बैठने वाला नहीं, भारत को हर जगह जवाब देना आता है.

अगर फाइनल में भिड़े भारत-पाक?

हमारे स्पोर्ट्स एडिटर विक्रांत गुप्ता ने जब हरभजन से पूछा कि अगर पाकिस्तान के खिलाफ न खेलते हुए भी शुरुआती राउंड में हम आगे बढ़ भी गए लेकिन फाइनल में फिर से भिड़ंत तय हुई तो ऐसे में क्या करना चाहिए. इसके जवाब में हरभजन ने कहा कि तब स्थिति नाजुक हो जाएगी और सरकार को इस बारे में फैसला लेना होगा. उन्होंने उम्मीद जताई कि सरकार में बड़े-बड़े लोग बैठे हैं जो इस पर फैसला लेंगे, क्योंकि तब तक के लिए काफी वक्त है. हरभजन ने कहा कि इस मसले का हल निकलना चाहिए. उन्होंने कहा कि जो भी फैसला देश लेगा हम पूरी तरह से उसके साथ हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay