एडवांस्ड सर्च

Advertisement
एशियन गेम्स  2018

ऋषभ पंत ने खोला राज- इस वजह से टेस्ट में डेब्यू का मिला मौका

ऋषभ पंत अपने आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं और यह अंदाज उन्होंने टेस्ट में भी जारी रखा. पंत ने अपना खाता टेस्ट करियर की महज दूसरी गेंद पर छक्का मार कर खोला.
ऋषभ पंत ने खोला राज- इस वजह से टेस्ट में डेब्यू का मिला मौका विकेटकीपर ऋषभ पंत
aajtak.in [Edited By: विश्व मोहन मिश्र]नॉटिंघम, 25 August 2018

युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत का कहना है कि भारत-ए टीम के साथ इंग्लैंड दौरे से उन्हें टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण के साथ तेज और उछालभरी गेंदबाजी का सामना करके अच्छे प्रदर्शन में मदद मिली.

पंत को गाली देना ब्रॉड को पड़ा भारी, ICC ने ठोका जुर्माना

20 साल के पंत ने ट्रेंट ब्रिट में अपने पहले टेस्ट में पहली पारी में 24 रन बनाए और फिर 7 कैच भी लपके. उन्होंने कहा ,‘इंग्लैंड में विकेटकीपिंग हमेशा कठिन होती है क्योंकि गेंद विकेट के पीछे लड़खड़ाते हुए आती है. मैं पिछले ढाई महीने से इंग्लैंड में भारत-ए के लिए खेल रहा हूं, जिससे काफी फायदा मिला है.’

उन्होंने कहा,‘मैं नेट पर अभ्यास कर रहा हूं कि तेज गेंदों से कैसे निपटना है और इसका फायदा मिल रहा है.’ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण पर उन्होंने कहा,‘यह बेहतरीन मौका है. मैं आईपीएल और घरेलू क्रिकेट में इन सभी के साथ खेल चुका हूं, लेकिन देश के खिलाफ खेलने का अहसास ही अलग है. टेस्ट क्रिकेट खेलना मेरा सपना था.’

केएल राहुल और ऋषभ पंत ने बनाया अनोखा वर्ल्ड रिकॉर्ड

रूड़की से आकर दिल्ली में क्रिकेट खेलने वाले पंत ने अपनी कामयाबी का श्रेय भारत-ए के कोच राहुल द्रविड़ और अपने बचपन के कोच तारक सिन्हा को दिया.

ऋषभ का धमाका, छक्के से आगाज करने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर

उन्होंने कहा,‘मैंने शून्य से शुरुआत की थी, लेकिन जब आप कड़ी मेहनत के साथ अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते हैं तो उसे हासिल कर लेते हैं. मैं राहुल द्रविड़ सर का शुक्रगुजार हूं और अपने बचपन के कोच राहुल सिन्हा का भी. उन्होंने मेरी जीवन में हर कदम पर मदद की है.’

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay