एडवांस्ड सर्च

दिल्ली के चीफ सेलेक्टर पर हॉकी स्टिक से हुआ हमला, अस्पताल में भर्ती

Former India pacer Bhandari assaulted at U-23 state trials: अमित भंडारी को सिर और कान में चोटें आई हैं. उन्हें उनके साथी सुखविंदर सिंह सिविल लाइंस स्थित संत परमानंद अस्पताल ले गए. दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष रजत शर्मा ने कहा कि दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: तरुण वर्मा]नई दिल्ली, 11 February 2019
दिल्ली के चीफ सेलेक्टर पर हॉकी स्टिक से हुआ हमला, अस्पताल में भर्ती Amit Bhandari With Virat Kohli

भारत के पूर्व तेज गेंदबाज और डीडीसीए की सीनियर चयन समिति के अध्यक्ष अमित भंडारी पर दिल्ली सीनियर टीम के सेंट स्टीफन्स मैदान पर चल रहे अभ्यास के दौरान सोमवार को अज्ञात व्यक्तियों ने हमला किया. भंडारी के सिर और कान में चोटें लगी हैं और उन्हें उनके साथी सुखविंदर सिंह सिविल लाइंस स्थित संत परमानंद अस्पताल ले गए. हमलावर पुलिस के पहुंचने से पहले ही फरार हो गए. पुलिस उपायुक्त (उत्तर) नुपुर प्रसाद ने कहा, ‘हम इस मामले को देख रहे हैं तथा पीड़ित का बयान दर्ज करने पर मामला दर्ज किया जाएगा.

दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के अध्यक्ष रजत शर्मा ने प्रेस ट्रस्ट से कहा कि दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा ,‘हम घटना का ब्यौरा ले रहे हैं. जहां तक मुझे पता चला है कि यह एक बाहर किए गए खिलाड़ी का काम है जिसे राष्ट्रीय अंडर 23 टूर्नामेंट के लिए संभावित खिलाड़ियों में नहीं रखा गया.’ उन्होंने कहा ,‘स्थानीय पुलिस थाने का एसएचओ सेंट स्टीफेंस मैदान पर पहुंच गया है और मैंने दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से खुद बात की है. दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. जो भी इस घटना में शामिल है, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. हम एफआईआर दायर करेंगे.’

कंगारुओं की ऐसे बेबीसिटिंग करते दिखे वीरू, मजेदार टीजर लॉन्च

रजत शर्मा अस्पताल जाकर भंडारी से भी मिले. उन्होंने कहा, ‘वह स्तब्ध हैं और यह स्वाभाविक है. चिकित्सकों ने कहा कि उन्हें एहतियात के तौर पर 24 घंटे के लिए निगरानी में रखा जाएगा.’ उन्होंने कहा, ‘जिन लोगों ने हमला किया वे उन पर एक खिलाड़ी का चयन करने के लिए दबाव बना रहे थे जो योग्यता के आधार पर अंडर-23 टीम में जगह नहीं बना पाया था. अमित ने दावा किया है कि एक हमलावर ने धमकी दी कि उसके पास रिवाल्वर है.’

दिल्ली के सीनियर और अंडर 23 मैनेजर शंकर सैनी ने इस घटना के बारे में कहा ,‘मैं टेंट के भीतर एक साथी के साथ खाना खा रहा था. भंडारी और अन्य चयनकर्ता सीनियर टीम के कोच मिथुन मनहास के साथ ट्रायल मैच देख रहे थे.’ उन्होंने बताया ,‘दो लोग आए और भंडारी के पास गए. उनकी भंडारी से तीखी बहस हुई और वे तुरंत चले गए. इसके बाद 15 लोग हॉकी स्टिक, लोहे की छड़ें और साइकिल की चेन लेकर आए.’

उन्होंने कहा ,‘ट्रायल में भाग ले रहे लड़के और हम भंडारी को बचाने दौड़े. उन्होंने हमको भी धमकी दी और कहा कि इसमें ना पड़ो वरना गोली मार देंगे. उन्हें भंडारी को हॉकी स्टिक और छड़ों से मारा. उसे सिर में चोट लगी है.’ यह पूछने पर कि यह किसका काम हो सकता है, सैनी ने कहा ,‘मैं उस समय वहां नहीं था जब ये दोनों लड़के भंडारी के पास आए. भंडारी जब पुलिस को बयान देंगे, तभी पता चल सकेगा.’ दिल्ली क्रिकेट भ्रष्टाचार और विभिन्न आयुवर्ग में चयन में अनियमितताओं के आरोपों से हमेशा घिरा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay