एडवांस्ड सर्च

Advertisement

खिलाड़ी निडर होकर खेले, लेकिन उनमें अनुभव की कमी: कोहली

ओवल टेस्ट में सरेंडर के साथ ही भारतीय टीम को इंग्लैंड के हाथों पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-4 से करारी शिकस्त मिली. पूरी सीरीज में ऐसे कई मौके आए, जब टीम इंडिया मैच के नतीजे अपने पक्ष में कर सकती थी.
खिलाड़ी निडर होकर खेले, लेकिन उनमें अनुभव की कमी: कोहली विराट कोहली
aajtak.in [Edited By: विश्व मोहन मिश्र]लंदन, 12 September 2018

कप्तान विराट कोहली का मानना है कि इंग्लैंड के हाथों हारने का मतलब यह नहीं है कि उनकी टीम ने सीरीज में बुरे खेल का प्रदर्शन किया. मंगलवार को आखिरी टेस्ट मैच में हारने के बाद कोहली ने कहा, ‘मुझे लगता है कि 1-4 का स्कोरलाइन ठीक है, क्योंकि इंग्लैंड ने हमसे बेहतर खेल का प्रदर्शन किया. लेकिन लॉर्ड्स में हुए टेस्ट मैच को छोड़कर बाकी में हमने बुरा प्रदर्शन नहीं किया.’

इंग्लैंड में सीरीज के साथ हौसला भी हारा भारत, ये रहे बड़े कारण

उन्होंने कहा, ‘हमने जिस तरह का खेल का दिखाया वह भले ही स्कोरकार्ड पर नजर न आए, लेकिन दोनों टीमें जानती हैं कि सीरीज में किस तरह का मुकाबला था.’ कोहली ने कहा कि हमारे पास टीम में योग्यता है और हमें केवल अनुभव चाहिए. उन्होंने केएल राहुल और ऋषभ पंत के संघर्ष की सराहना करते हुए कहा कि दोनों बल्लेबाजों ने असंभव जीत की ओर कदम बढ़ा दिए थे.

कप्तान ने कहा, 'पंत ने अधिक साहस और प्रतिभा का प्रदर्शन किया. जब आप ऐसी परिस्थितियों में होते हैं तो आप परिणाम के बारे में नहीं सोचते. लेकिन चीजें आपके अनुकूल होती जाती हैं. मैं दोनों के प्रदर्शन खुश हूं और ये भारत के भविष्य हैं. हम इस मौके का लाभ नहीं उठा पाए.' उल्लेखनीय है कि राहुल (149) और पंत (114) के बीच छठे विकेट के लिए हुई 204 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी हुई.

इंग्लैंड में ऋषभ पंत का कमाल- जो धोनी नहीं कर पाए, वो कर दिखाया

कोहली ने सीरीज में कुल 593 रन बनाए. उन्होंने कहा कि पांचों मैचों में अच्छे खासे दर्शक आए जो कि टेस्ट क्रिकेट के लिए काफी सकारात्मक बात है. उन्होंने कहा, 'दोनों टीमें जानती हैं कि सीरीज काफी प्रतिस्पर्धी रही. यह टेस्ट क्रिकेट के लिए एक अच्छा है. इंग्लैंड एक अच्छी टीम है और हमने यह महसूस किया कि दो-तीन ओवरों में खेल बदल गया.'

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay