एडवांस्ड सर्च

हैप्पी बर्थडे इरफान, PAK के खिलाफ धोनी के साथ साझेदारी और हैट्रिक के कारनामे को नहीं भूल सकते

अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए अक्टूबर महीने की अलग अलग तारीखों पर इरफान पठान कई क्रिकेटरों को उनके जन्मदिन की बधाई देते रहे हैं और अब उनका खुद का जन्मदिन आ गया. इस मौके पर उनके साथ कई अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके मास्टर ब्लास्टर ने पहले तो इरफान को बर्थडे विश किया और फिर पूछ लिया कि बिरयानी कब खिला रहे हो.

Advertisement
aajtak.in
अश्विनी कुमार / अभिजीत श्रीवास्तव नई दिल्ली, 27 October 2016
हैप्पी बर्थडे इरफान, PAK के खिलाफ धोनी के साथ साझेदारी और हैट्रिक के कारनामे को नहीं भूल सकते हरभजन सिंह के बाद भारत के लिए टेस्ट में हैट्रिक लेने वाले केवल दूसरे क्रिकेटर हैं इरफान पठान

अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए अक्टूबर महीने की अलग अलग तारीखों पर इरफान पठान कई क्रिकेटरों को उनके जन्मदिन की बधाई देते रहे हैं और अब उनका खुद का जन्मदिन आ गया.

इस मौके पर उनके साथ कई अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके मास्टर ब्लास्टर ने पहले तो इरफान को बर्थडे विश किया और फिर पूछ लिया कि बिरयानी कब खिला रहे हो.

चलिए हम आज इरफान को उन्हीं के अंदाज में याद करते हैं उनके उन तीन कारनामों से जो उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ पहले तो पाकिस्तान की ही धरती पर किए और फिर जब क्रिकेट अपने नए फॉर्मेट के टूर्नामेंट वर्ल्ड टी20 देख रहा था तो उसके फाइनल को भी इरफान ने स्पेशल बना दिया.

नहीं भूल सकते धोनी-इरफान की ये साझेदारी
कई विशेषज्ञों ने इरफान पठान को कपिल देव के बाद स्विंग और सीम बॉलिंग का सर्वाधिक प्रतिभावान क्रिकेटर बताया. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण के कुछ सालों बाद तो उन्हें एक ऑलराउंडर के तौर पर कपिल देव के उत्तराधिकारी के रूप में देखा जाने लगा.

ऐसा हो भी क्यों नहीं? इरफान की जब भी बात चलती है तो मुझे सबसे पहले 2006 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में पाकिस्तान गई भारतीय टीम का फैसलाबाद और कराची टेस्ट याद आ जाता है. फैसलाबाद में पाकिस्तान पहली पारी में 588 रन बना चुका था और जवाब में दूसरे विकेट के लिए कप्तान द्रविड़ और लक्ष्मण के बीच 197 रनों की साझेदारी के बाद केवल 45 रनों के बीच द्रविड़, लक्ष्मण, तेंदुलकर और युवराज आउट हो गए. ऐसे में टीम पर फॉलोऑन का खतरा आ गया और यहां से पठान ने धोनी के साथ मिलकर 201 रनों की साझेदारी निभाई. धोनी ने 148 रन बनाए तो पठान अपने शतक से चूक गए और 90 रन बनाकर एलबीडब्ल्यू आउट हुए. पठान विकेट पर टिक कर खेले और टीम इंडिया मैच को ड्रॉ करने में कामयाब रही.

टेस्ट में सबसे तेज हैट्रिक का बनाया रिकॉर्ड
इसके बाद अगले ही मैच में इरफान ने वो करामात किया जो तब से पहले टेस्ट क्रिकेट में कभी नहीं देखा गया. कराची के नेशनल स्टेडियम में खेले गए इस मैच में पाकिस्तान पहले बल्लेबाजी करने उतरा लेकिन उन्हें यह नहीं मालूम था कि इरफान उन्हें कैसा शुरुआती झटका देने वाले हैं. इरफान को द्रविड़ ने पहला ओवर थमाया और उन्होंने अपने पहले ही ओवर में कहर ढा दिया.

मैच की चौथी, पांचवीं और छठी गेंद पर उन्होंने सलमान बट्ट, कप्तान यूनिस खान और मोहम्मद यूसुफ जैसे धुरंधर बल्लेबाजों को पवेलियन भेज कर वो न केवल टेस्ट मैचों में हरभजन के बाद हैट्रिक लेने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी बने बल्कि इसके साथ ही उन्होंने किसी भी टेस्ट में सबसे तेज हैट्रिक लेने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया. पहले ओवर की समाप्ति पर पाकिस्तान का स्कोर शून्य पर तीन विकेट था.

क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट पर छोड़ी छाप
इरफान ने 2003 से 2008 तक भारत के लिए 29 टेस्ट मैच खेला. इसमें उन्होंने 31.57 की औसत से 1105 रन और कुल 100 विकेट लिए. अपने टेस्ट करियर के दौरान उन्होंने सात बार पारी में पांच विकेट जबकि मैच में दो बार 10 विकेट लिए. इरफान का वनडे करियर 120 मैचों का रहा और इस दौरान उन्होंने पांच अर्धशतकों समेत 1544 रन बनाए और 173 विकेट लिए.

वर्ल्ड टी20 फाइनल में पाकिस्तान की तोड़ी कमर
24 मैचों के टी20 क्रिकेट करियर के दौरान इरफान ने 28 विकेट लिए. इस दौरान उन्होंने 2007 के पहले वर्ल्ड टी20 टूर्नामेंट में अपनी छाप छोड़ी. टूर्नामेंट में इरफान ने 14.90 की औसत से 10 विकेट लिए. ऐतिहासिक फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ 16 रनों पर तीन विकेट लेने के कारनामे ने जहां टीम को टूर्नामेंट का विजेता बनाया वहीं उन्हें मैन ऑफ द मैच का खिताब भी दिलाया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay