एडवांस्ड सर्च

राजस्थान चुनाव: क्या टोडाभीम में रिपीट होगी कांग्रेस?

राजस्थान में विधानसभा की कुल 200 सीट हैं. 2013 के विधानसभा चुनाव में इनमें से 163 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी को जीत मिली थी. जबकि कांग्रेस महज 21 विधानसभा सीट ही जीत पाई थी.

Advertisement
जावेद अख़्तरनई दिल्ली, 26 September 2018
राजस्थान चुनाव: क्या टोडाभीम में रिपीट होगी कांग्रेस? राजस्थान चुनाव 2018

राजस्थान विधानसभा चुनाव का शंखनाद हो चुका है. अलग-अलग राजनीतिक दल जमकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रदेश में घूमकर राजस्थान गौरव यात्रा की है, जबकि कांग्रेस संकल्प रैली के जरिए जनता के बीच पहुंची है.

करौली जिला

साल 1997 में राज्य के 32वें जिले के रूप में करौली की स्थापना हुई. सांस्कृतिक तौर पर यह जिला दो भागों में बंटा हुआ है, जिन्हें मध और जगरोती कहा जाता है. इस जिले में ब्रज संस्कृति का प्रभाव है. 2011 की जनगणना के अनुसार, जिले की आबादी करीब 14 लाख 58 हजार है. करौली को अलग जिला बनाने के लिए यहां के लोगों ने बहुत संघर्ष किया. स्वर्गीय विधायक बाबा हंसराम गुर्जर, एडवोकेट अब्दुल रहीम और दिवंगत एडवोकेट जगदीश पॉल का नाम जिला गठन के लिए लड़ी गई लड़ाई में सबसे पहले आता है.

जिले का चुनावी समीकरण

यहां कुल 4 विधानसभा सीट हैं, जिनमें से कांग्रेस-बीजेपी को 2-2 सीटों पर जीत मिली थी. 2013 के चुनाव में जिले में कुल 8,29,801 वोटर्स थे, जिनमें से 5,64,485 लोगों (68%) ने अपने मतों का इस्तेमाल किया था. जिले की एक सीट (करौली) सामान्य वर्ग के लिए है, जबकि 1 सीट (हिण्डौन) अनुसूचित जाति (SC) के लिए आरक्षित है. वहीं, 2 सीट (टोडाभीम और सपोटरा) अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षति है. जिले में करीब 6 फीसदी मुस्लिम आबादी है.

टोडाभीम सीट

अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षति यह सीट करौली-धौलपुर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आती है. 2011 की जनगणना के अनुसार यहां की आबादी 3 लाख 67 हजार है, जिसमें 21 फीसदी एससी आबादी है, जबकि 29 फीसदी आबादी एसटी है. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के मनोज राजोरिया यहां से सांसद निर्वाचित हुए थे.

2013 चुनाव का रिजल्ट

घनश्याम महर (कांग्रेस)- 50,955 (36%)

पृथ्वीराज मीणा (NPP)- 43,946 (31%)

रामराज मीणा (बीजेपी)- 30,207 (21%)

2008 चुनाव का रिजल्ट

किरोड़ी लाल (निर्दलीय)- 87,239 (56%)

मातादीन धानका (निर्दलीय)- 53,327 (34%)

विधानसभा का समीकरण

राजस्थान विधानसभा में कुल 200 सीटें हैं. इनमें 142 सीट सामान्य, 33 सीट अनुसूचित जाति और 25 सीट अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित हैं. 2013 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी और उसने 163 सीटों पर जीत दर्ज की थी. जबकि कांग्रेस 21 सीटों पर सिमट गई थी. बहुजन समाज पार्टी को 3, नेशनल पीपुल्स पार्टी को 4, नेशनल यूनियनिस्ट जमींदारा पार्टी को 2 सीटें मिली थीं. जबकि 7 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay