एडवांस्ड सर्च

Advertisement

क्या होगा अश्विन-जडेजा का? बॉलिंग कोच-कप्तान के अलग-अलग बोल

अरुण ने शनिवार को होने वाले सीरीज के चौथे मैच से पहले कहा, 'हमारे पास जो मौजूदा प्रतिभा है, उस पर ध्यान देना चाहते हैं और उसके बाद हम फैसला लेंगे कि विश्व कप में कौन खेलेगा.'
क्या होगा अश्विन-जडेजा का? बॉलिंग कोच-कप्तान के अलग-अलग बोल भारतीय टीम
aajtak.in [Edited By: विश्व मोहन मिश्र]जोहानिसबर्ग, 10 February 2018

भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा की जोड़ी को 2019 में होने वाले विश्व कप की दौड़ से बाहर नहीं मानते है. अरुण का बयान हालांकि टीम के कप्तान विराट कोहली के उस बयान से मेल नहीं खाता, जिसमें उन्होंने कहा था की युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की जोड़ी विश्व कप में टीम के लिए तुरुप का इक्का साबित हो सकती है.

चहल और कुलदीप ने छह मैचों की मौजूदा सीरीज में दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों को खासा परेशान कर रखा है. अरुण ने शनिवार को होने वाले सीरीज के चौथे मैच से पहले कहा, 'हमारे पास जो मौजूदा प्रतिभा है, उस पर ध्यान देना चाहते हैं और उसके बाद हम फैसला लेंगे कि विश्व कप में कौन खेलेगा.'

उन्होंने कहा, 'ऐसा नहीं है कि अश्विन और जडेजा रेस से बाहर हो चुके हैं. वे अभी भी टीम में आ सकते है.' कुलदीप और चहल की तारीफ करते हुए गेंदबाजी कोच ने कहा, 'वे काफी सकारात्मक हैं. गेंद के साथ लड़ने में नहीं डरते हैं. अतिरिक्त स्पिन के लिए जाने से नहीं डरते हैं और न ही विकेट पर निर्भर हैं.'

अरुण से जब अश्विन और जडेजा के स्थान पर चहल और कुलदीप को लाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह रोटेशन पॉलिसी का हिस्सा है. उन्होंने कहा, 'श्रीलंका सीरीज के दौरान, हम खिलाड़ियों को परखना चाहते थे. हमारे पास गेंदबाजों का अच्छा समूह है. आप समझ सकते हैं, हम जितनी क्रिकेट खेल रहे हैं उसके हिसाब से हमें खिलाड़ियों को रोटेट करना पड़ता है ताकि वे हर प्रारूप में तरोताजा रहें.'

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay