एडवांस्ड सर्च

Advertisement

करियर के आखिरी शतक के लिए कुक ने इस भारतीय को कहा- थैंक्यू

एलिस्टेयर कुक ने 2006 में भारत के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी. उस मैच में उन्होंने शानदार शतक जमाया था. और अब उसी के खिलाफ आखिरी टेस्ट में भी शतकीय पारी खेली है.
करियर के आखिरी शतक के लिए कुक ने इस भारतीय को कहा- थैंक्यू कुक
aajtak.in [Edited By: विश्व मोहन मिश्र]लंदन, 11 September 2018

संन्यास लेने की घोषणा कर चुके इंग्लैंड के बल्लेबाज एलिस्टेयर कुक जसप्रीत बुमराह को धन्यवाद कहना चाहते हैं. कुक ने कहा कि इस तेज गेंदबाज के ओवरथ्रो के कारण उन्होंने अपने करियर की अंतिम टेस्ट पारी में शतक पूरा किया और कुछ मुश्किल हालात से बच गए.

कुक जब 96 रन बनाकर खेल रहे थे, तब उन्होंने रवींद्र जडेजा की गेंद को एक रन के लिए खेला, लेकिन बुमराह ने स्टंप पर तेज थ्रो की और इसके बाद ओवरथ्रो से बल्लेबाज को पांच रन मिले.

कुक ने कहा, ‘मुझे याद है कि कट करके मैं 97 रन पर पहुंचा और मुझे तीन रन और चाहिए थे. तभी उसने (बुमराह ने) थ्रो किया. यह काफी तेज थी. मैंने खुद से इंतजार करने को कहा. जैसे ही मैंने देखा कि रवि (जडेजा) इसके आसपास नहीं है, मैंने खुद को इंतजार करने को कहा.’

इस सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘इसने (ओवरथ्रो ने) मुझे काफी परेशानी से बचा लिया. उसने (बुमराह) इस सीरीज के दौरान मुझे काफी परेशान किया. उसके वहां मुझे वह लम्हा देने के लिए मैं उसे धन्यवाद देना चाहता हूं.’

कुक ने कहा कि उनके संन्यास की घोषणा करने के बाद से उनका जिस तरह स्वागत हुआ उस पर विश्वास नहीं हो रहा और वह सभी के आभारी हैं कि अच्छे प्रदर्शन के साथ विदाई ले रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘मैं उन भावनाओं का जिक्र नहीं कर सकता, जिन्हें पिछले कुछ दिनों में मैंने महसूस किया. यह मेरे जीवन के चार शानदार दिन रहे. आज जो हुआ और पिछले चार दिन के दौरान मेरा जो स्वागत हुआ वह शानदार था. यहां तक कि अंतिम कुछ ओवरों में जब सभी दर्शक ‘बार्मी आर्मी’ का गाना गा रहे थे तो यह विशेष था.’

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay